तूफानी शतक बनाने वाले डेविड मिलर बने टी-20 में दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष रन स्कोरर

पुनः संशोधित सोमवार, 3 अक्टूबर 2022 (16:11 IST)
हमें फॉलो करें
गुवाहाटी में जब भारत के खिलाफ क्रीज पर आए तो मेहमान टीम 3 विकेट गंवा चुकी थी। ऐसे में 238

रनों का पीछा करने के लिए तेज रफ्तार की जरुरत के साथ साथ विकेट बचाने की भी जरूरत थी जो डेविड मिलर ने किया।


तेम्बा बावुमा की अगुवाई वाली टीम को 238 रन का कड़ा लक्ष्य दिया गया था लेकिन कप्तान लगातार दूसरे मैच में खाता खोलने में नाकाम रहे जबकि रिली रोसेयु भी शून्य पर आउट हो गए।डेविड मिलर ने 47 गेंद में नाबाद 106 रन की लाजवाब पारी खेली और क्विंटन डिकॉक (48 गेंद में नाबाद 69 रन) के साथ चौथे विकेट के लिए 174 रन की अटूट साझेदारी की जिससे मुकाबला करीबी रहा। अपनी तूफानी पारी में मिलर ने 8 चौके और 7 छक्के लगाए।

इस पारी से ना सिर्फ मिलर ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय में अपने 2000 रन पूरे किए बल्कि वह दक्षिण अफ्रीका की ओर से शीर्ष रन स्कोरर भी रहे। उनसे नीचे जेपी डुमिनी ने 1934 रन बनाए थे जबिक उनका कल साथ देने वाले क्विंटन डिकॉक ने 1918 रन बनाए हैं।



सीरीज हारने के बाद भी मिलर को विश्वास टी-20 विश्वकप में दक्षिण अफ्रीका करेगी वापसी

दक्षिण अफ्रीका के स्टार बल्लेबाज डेविड मिलर का दृढ़ विश्वास है कि भारत के खिलाफ श्रृंखला में हार आगामी टी20 विश्व कप से पहले उनकी टीम को कमजोर नहीं बनाएगी। उन्होंने पिछले सत्र में ऑस्ट्रेलिया की खिताबी जीत का हवाला दिया जो इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट से पहले लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के लिए जूझ रहा था।

दक्षिण अफ्रीका के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज बुरी तरह से जूझ रहे हैं जबकि रविवार को दूसरे टी20 में उनके गेंदबाज भी लय में नहीं दिखे जिससे भारत ने यहां 16 रन की जीत के साथ श्रृंखला में 2-0 की विजयी बढ़त बना ली।

मिलर ने कहा कि हार से उन्हें अधिक नुकसान नहीं होगा क्योंकि ऑस्ट्रेलिया ने भी 2021 में काफी संघर्ष किया था लेकिन आखिरकार वे विश्व चैंपियन बन गए। ऑस्ट्रेलिया की टीम टी20 प्रारूप में लगातार पांच श्रृंखला गंवाने के बाद विश्व कप में उतरी थी।

मिलर ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘अतीत में कई उदाहरण हैं जिनमें से एक ऑस्ट्रेलिया का है कि वे विश्व कप से पहले बहुत अच्छा नहीं कर रहे थे और फिर वे विश्व चैंपियन बनने में सफल रहे। इसलिए मुझे नहीं लगता कि इसके बारे में अधिक चिंता करने की जरूरत है।’’
उन्होंने कहा, ‘‘हमने पिछले डेढ़ साल में एक बहुत अच्छी टीम बनाई है। हम एकजुट होकर काफी अच्छा प्रदर्शन करते हैं। हमारे बीच अच्छी साझेदारियां हैं, हमने पिछले साल बहुत सारी श्रृंखला जीतीं।’’

इस आक्रामक बल्लेबाज ने कहा, ‘‘आज रात श्रृंखला हारना बेशक निराशाजनक था लेकिन अतीत में हमने वास्तव में अच्छी प्रतिस्पर्धा की है लेकिन फिर भी श्रृंखला हारना निराशाजनक है।’’

मिलर ने कहा, ‘‘पिछले मैच में हमने अच्छी बल्लेबाजी नहीं की। इस मैच में भी हमारी शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन हम काफी अच्छी साझेदारी करने में सफल रहे और अंत में मुकाबला काफी प्रतिस्पर्धी रहा।’’

मिलर ने हालांकि अपने गेंदबाजों के प्रति नरम रुख अपनाया।उन्होंने कहा, ‘‘मैच में 400 से अधिक रन बने, मैं गेंदबाजों के प्रति बहुत कठोर नहीं होना चाहता लेकिन मुझे लगता है कि कई बार हम योजना को सही तरह से लागू नहीं कर पाए।’’

मिलर ने कहा, ‘‘पिछले मैच में उन्होंने वास्तव में अच्च्छा प्रदर्शन किया। विश्व कप से पहले कुछ विभागों में हम अब भी सुधार कर सकते हैं, हमारे पास अब भी समय है।’’खचाखच भरे बरसापारा स्टेडियम के संदर्भ में मिलर ने कहा, ‘‘भारत को दर्शकों का समर्थन हासिल था और ऐसे में भारतीय परिस्थितियों में खेलने के लिए एक विरोधी के रूप में यहां आना आसान नहीं होता। वे काफी शोर मचाते हैं। आप इसे अपने लाभ के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं। बस माहौल का आनंद लें। आपको दुनिया में कहीं भी इस तरह का माहौल नहीं मिलता।’’



और भी पढ़ें :