अनिल कुंबले के बारे में 15 रोचक जानकारियां

पुनः संशोधित गुरुवार, 23 जून 2016 (21:10 IST)
नई दिल्ली। 'जम्बो' के नाम से क्रिकेट की दुनिया में मशहूर अनिल कुंबले के नाम का ऐलान जब भारतीय क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था के मुखिया अनुराग ठाकुर ने बतौर कोच के रूप में किया तो पूरी भारतीय क्रिकेट बिरादरी ने इसे सम्मान के रूप में देखा। कुंबले की खेल प्रतिबद्धता की मिसालें दी जाती रहीं है। जानिए क्या हैं कुंबले के बारे में 15 रोचक जानकारियां... 
1. अनिल कुंबले ने करियर की शुरुआत तेज गेंदबाज के रूप में की, लेकिन उसके बाद उन्होंने स्पिन गेंदबाज बनने का फैसला लिया था। 
2. शेन वार्न के बाद कुंबले दुनिया के दूसरे गेंदबाज हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 2000 रन बनाए हैं और 500 से ज्यादा विकेट लिए हैं।
3. कुंबले दुनिया के दूसरे गेंदबाज हैं जिन्होंने टेस्ट की एक पारी में सभी 10 विकेट झटके। यह कारनामा उन्होंने दिल्ली में पाकिस्तान के खिलाफ 7 फरवरी 1999 में किया था। 
4. 1996 में क्रिकेट की बाइबिल समझी जाने वाली 'विस्डन' ने कुंबले को 'क्रिकेटर ऑफ द ईयर' घोषित किया था। 
5. कुंबले में सर्वाधिक विकेट लेने वाले दुनिया के तीसरे गेंदबाज।
6. कुंबले दुनिया के ऐसे तीसरे गेंदबाज हैं जिन्होंने टेस्ट मैच में 619 से ज्यादा विकेट लिए हैं। कुंबले ने 132 टेस्ट मैचों की 236 पारियों में 619 विकेट हासिल किए। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 74 रन देकर 10 विकेट लेने का रहा। कुंबले ने 271 वनडे मैचों की 265 पारियों में 337 विकेट लिए। उनका श्रेष्ठ प्रदर्शन वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 रन देकर 6 विकेट लेने का रहा।  
7. कुंबले ने शारजाह में 1989-90 में आयोजित ऑस्ट्रेलेशिया कप में श्रीलंका के खिफाफ से करियर की शुरुआत की थी। 
8. कुंबले ने अपने का अंतिम एकदिवसीय मैच 19 मार्च 2007 को क्वींस पार्क ओवल में बरमुडा के खिलाफ खेला।  
9. कुंबले भारत के ऐसे पहले गेंदबाज हैं, जिन्होंने पहले 10 टेस्ट मैच में 50 विकेट लिए। बाद में यह कीर्तिमान अश्विन ने 9 मैचों में 50 विकेट लेकर तोड़ा। 
10. इंग्लैंड के खिलाफ कुंबले ने पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ ओल्ड ट्रेफर्ड पर 9 अगस्त 1990 को खेला था जबकि अंतिम टेस्ट मैच 2008 में फिरोजशाह कोटला में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला। 
11. आईपीएल में कुंबले ने पहला मैच 26 अप्रैल 2008 को राजस्थान के खिलाफ बेंगलुरु में खेला। वे आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और मुंबई इंडियंस के चीफ मेंटर भी रहे। 
12. कुंबले ने पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया की कप्तानी भी की। इसमें भारत पाकिस्तान से 1-0 से जीता था जबकि ऑस्ट्रेलिया से 1-2 से हार गया था। 
13. 2002 में कुंबले ने वेस्टइंडीज के खिलाफ एंटिगा में जबड़ा टूटने के बाद भी पट्‍टी बांधकर लगातार 14 ओवर तक गेंदबाजी की थी और क्रिकेट में अपनी प्रतिबद्धता से पूरी दुनिया को अपना कायल बना दिया था। 
14. कुंबले को 1995 में 'अर्जुन अवॉर्ड' से नवाजा गया और 2005 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया। 
15. फरवरी 2015 में आईसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल होने वाले अनिल कुंबले चौथे भारतीय बने। 


और भी पढ़ें :