मीडिया पर बरसे भुवनेश्वर, कहा टेस्ट क्रिकेट भी खेलना चाहता हूं, झूठ ना फैलाएं

Last Updated: रविवार, 16 मई 2021 (11:47 IST)
नई दिल्ली:भारतीय टीम के तेज गेंदबाज कुमार ने कहा कि टीम में चयन हो या नहीं वह टेस्ट सहित सभी प्रारूपों में खेलना चाहते हैं।
इंग्लैंड दौरे के लिए चुनी गयी भारतीय टीम में भुवनेश्वर कुमार को जगह नहीं मिलने पर सवाल उठने के बाद एक मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया था कि भुवनेश्वर अब में नहीं खेलना चाहते है।

भुवनेश्वर ने शनिवार को ट्विटर पर लिखा, ‘‘मेरे बारे में कुछ लेख छपे हैं कि मैं टेस्ट क्रिकेट नहीं खेलना चाहता। मैं ये साफ कर दूं कि टीम में चयन हो या नहीं मैं खुद को हमेशा क्रिकेट के तीनों प्रारूपों के लिए तैयार रखता हूं और यह आगे भी जारी रहेगा।’’
उन्होंने लेख पर तंज कसते हुए कहा, ‘‘ मेरा सुझाव है कि सूत्रों के आधार पर अपनी धारणाएं ना लिखें।’’
इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ के फाइनल के बाद पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला खेलनी है और वहां की परिस्थितियों में भुवनेश्वर की स्विंग गेंदबाजी असरदार साबित हो सकती थी।
इस मीडिया रिपोर्ट में लिखा गया था कि भुवनेश्वर अब टेस्ट क्रिकेट की जगह सीमित ओवरों की क्रिकेट पर ध्यान दे रहे है। पिछले कुछ समय से वह इसी के मुताबिक अभ्यास कर रहे हैं और लंबे स्पैल डालने से बच रहे हैं।

भारत के लिए 2013 में पदार्पण करने के बाद भुवनेश्वर लगातार चोटों से जूझते रहे हैं और उन्होंने अब तक महज 21 टेस्ट मैच खेले हैं। उन्होंने इस दौरान 26.1 की औसत से 63 विकेट लिये हैं।पिछले साल इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान चोटिल होने के कारण वह ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भी नहीं गये थे।

कब कब चोटिल हुए भुवी

तेज गेंदबाज का चोटों से रिश्ता कोई नया नहीं है। वह आईपीएल 2020 में केवल चार मैच ही खेल पाए थे और आईपीएल 2018 में 17 मैचों में से पांच मैच पीठ की परेशानी के कारण नहीं खेल पाए थे। उसी वर्ष भारत के इंग्लैंड दौरे पर भुवनेश्वर तीसरा टी-20 और पहले दो वनडे इन्ही परेशानियों के कारण नहीं खेल पाए थे। उन्हें फिर पांच मैचों की सीरीज के दौरान बीच में ही स्वदेश लौटना पड़ा था जब उसी साल वेस्ट इंडीज ने भारत का दौरा किया उन्हें अपने कार्यबोझ को संभालने के लिए विश्राम दिया गया। इसके अतिरिक्त उन्हें पांच मैचों की वनडे सीरीज के पहले दो मैचों से भी आराम दिया गया।
भुवनेश्वर हालांकि सौ फीसदी फिट नहीं थे लेकिन वह 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का हिस्सा था। लेकिन उन्हें वहां खेलने के लिए कोई मैच नहीं मिला। वह 2019 में इंग्लैंड में हुए एकदिवसीय विश्व कप में हैमस्ट्रिंग चोट के कारण अफगानिस्तान, वेस्ट इंडीज और इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैच नहीं खेल पाए। उन्हें वेस्ट इंडीज दौरे के लिए नहीं चुना गया और वह बगल में खिंचाव के चलते दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट और तीन टी 20 मैचों की सीरीज नहीं खेल पाए। जब बांग्लादेश की टीम साल के आखिर में भारत दौरे पर थी तो वह चोट के कारण तीन टी20 नहीं खेल पाए।(भाषा)



और भी पढ़ें :