बड़बोले बाबर के बिगड़े बोल, कहा भारत को हराकर शुरू करेंगे टी-20 विश्वकप अभियान

Last Updated: गुरुवार, 7 अक्टूबर 2021 (22:03 IST)
कराची: के कप्तान बाबर आजम का मानना है कि जब उनकी टीम 24 अक्टूबर को टी20 विश्व कप मुकाबले में से भिड़ेगी तो ज्यादा दबाव प्रतिद्वंद्वी टीम पर ही होगा।

बाबर ने रमीज राजा (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के होने वाले अगले चेयरमैन) से मुलाकात के बाद कहा, 'मुझे लगता है कि टी20 विश्व कप मैच में हमारी तुलना में भारतीय टीम ज्यादा दबाव में होगी। हम अपना अभियान भारत को हराकर शुरू करना चाहेंगे।'

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा जारी ड्रॉ के अनुसार भारत और पाकिस्तान दुबई में विश्व टी20 कप के ग्रुप चरण में एक दूसरे से भिड़ेंगे। दोनों टीमों ने विश्व कप 2019 के बाद से एक दूसरे के खिलाफ कोई नहीं खेला है। इस भिड़ंत में भी भारत ने पाकिस्तान को आसानी से हरा दिया था। बल्कि आईसीसी प्रतियोगिताओं में भारत का पलड़ा भारी रहा है और 50 ओवर के विश्व कप में उसे पाकिस्तान से हार का सामना नहीं करना पड़ा है।

बाबर ने कहा कि में खेलना उनके लिये घर पर खेलने जैसा ही होगा। उन्होंने कहा, 'यह हमारे घरेलू मैदान की तरह ही है, जब हम संयुक्त अरब अमीरात के मैदानों पर खेलते हैं तो हमें फायदा मिलता है और इसके साथ ही अपना शत प्रतिशत देना चाहेंगे।' बाबर ने यह भी कहा कि तीनों प्रारूपों में टीम की कप्तानी करने का उन पर कोई दबाव नहीं है।

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम अपने अभियान की शुरुआत करने के लिए उत्सुक हैं । उन्होंने कहा कि उनकी टीम संयुक्त अरब अमीरात में लगातार खेलती रही है और वहां की की परिस्थितियों में उन्हें घरेलू महौल जैसा लगेगा।
उन्होंने कहा, ‘‘ पाकिस्तान के लिए, आईसीसी पुरुष टी20 विश्व कप 2021 एक घरेलू आयोजन की तरह है क्योंकि यूएई एक दशक से अधिक समय से हमारा आयोजन स्थल रहा है। हमने संयुक्त अरब अमीरात में अपनी प्रतिभा और टीम को मजबूत बनाया है। हम इन परिस्थितियों में शीर्ष टीमों को हराकर आईसीसी टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर पहुंच गए हैं।’’

गौरतलब है कि आखिरी बार भारत और पाकिस्तान विश्वक 2019 में भिड़े थे जिसमें भारत ने पाकिस्तान को वर्षाबाधित मैच में हरा दिया था। इसके साथ ही वनडे हो या फिर पाकिस्तान के खिलाफ भारत का 100 प्रतिशत रिकॉर्ड रहा है।

दोनों पड़ोसी मुल्कों के बीच क्रिकेट कई बार कड़वे आपसी रिश्तों की भेंट चढ़ा है। दोनों मुल्क कई समय से द्विपक्षीय या त्रिकोणीय श्रंखला का हिस्सा नहीं है लेकिन आईसीसी टूर्नामेंट या एशिया कप में भारत और पाकिस्तान का आमना सामना हो ही जाता है।

साल 2020 एक ऐसा साल रहा जिसमें भारत और पाकिस्तान के बीच एक भी क्रिकेट मैच नहीं हो सका, न ही वनडे मैच न ही टी-20 मैच । कोरोना के आने से पहले भारत का पाकिस्तान से भिड़ने की संभावना थी क्योंकि 2020 टी-20 विश्वकप ऑस्ट्रेलिया में होना था जो साल 2021 के लिए स्थगित हो गया।अब यह संयुक्त अरब अमीरात मे खेला जाएगा।

संयुक्त अरब अमीरात एक तरह से पाकिस्तान का घरेलू मैदान है क्योंकि अंतरराष्ट्रीय टीमें पाकिस्तान में नहीं खेलना चाहती तो यूएई में पाकिस्तान उनसे क्रिकेट खेलता है। वहीं आईसीसी ने भारत को इस टी-20 विश्वकप का मेजबान माना है भले ही मैच यूएई में खेले जा रहे हों। अब देखना होगा कि कौन सा मेजबान किस पर भारी पड़ता है।

जानकारी के लिए बता दें कि एशिया कप 2018 यूएई में ही खेला गया था और दोनों ही मैचों भारत ने पाकिस्तान को एकतरफा हराया था। अगली बार जब टी-20 विश्वकप में पाकिस्तान टीम भारत से भिड़ेगी तो इसका मनोवैज्ञानिक लाभ भारत को होगा।



और भी पढ़ें :