लगभग एक साल बाद अजिंक्य रहाणे बन सकते हैं भारत के टेस्ट कप्तान

Last Updated: गुरुवार, 11 नवंबर 2021 (23:33 IST)
साल 2020 में एडिलेड में जब भारत 36 रनों पर ऑलआउट हुआ था तो कप्तान विराट कोहली पितृत्व अवकाश के लिए भारत लौट गए थे। इसके बाद सबका यह मानना था कि यह दौरा भारत के लिए बहुत कठिन होने वाला है लेकिन जब दौरा खत्म हुआ तो भारत 2-1 से विजयी रहा।

इसका काफी कुछ श्रेय अजिंक्य रहाणे की कप्तानी को मिला जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया की धरती पर युवाओं पर विश्वास दिखाया। अब करीब एक साल बाद फिर अजिंक्य रहाणे को टेस्ट की कप्तानी मिल सकती है।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक विराट कोहली ने न केवल टी-20, बल्कि न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज से भी आराम मांगा है, हालांकि वह दूसरे और आखिरी मैच के लिए वापसी कर सकते हैं।

इसके अलावा टेस्ट रैंकिंग में लगातार आगे बढ़ने वाले रोहित शर्मा जो अभी अभी टी-20 के कप्तान बने हैं उन्होंने भी इस सीरीज में भाग ना लेने की इच्छा जाहिर की है।

इससे पहले अजिंक्य रहाणे अफगानिस्तान के खिलाफ घरेलू धरती पर टेस्ट मैच में भारत की अगुवाई कर चुके हैं जिसमें भारत महज 3 दिनों में यह मैच जीत चुका था। अब देखना होगा कि क्या अजिंक्य रहाणे ऑस्ट्रेलिया में किया गया कमाल भारत में दोहरा पाते हैं या नहीं।


भारत के नव नियुक्त टी20 कप्तान रोहित शर्मा को न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला में आराम दिया जायेगा जबकि विराट कोहली शुरूआती मैच में नहीं खेलेंगे जिससे ‘मानसिक और शारीरिक रूप से थकी’ टीम इंडिया घरेलू श्रृंखला में कार्यभार प्रबंधन के कारण थोड़ी कमजोर दिखेगी।

उप कप्तान अजिंक्य रहाणे कानपुर में शुरूआती टेस्ट में टीम की अगुआई करेंगे क्योंकि कोहली ने 17 नवंबर से जयपुर में शुरू हो रही तीन मैचों की टी20 श्रृंखला से बाहर रहने के बाद अपना अवकाश बढ़ा दिया है। बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) के विश्वस्त सूत्र के अनुसार गुरूवार को चयन समिति की एक बैठक के बाद टीम को अंतिम रूप दिया गया लेकिन आधिकारिक घोषणा का अब भी इंतजार है।

कानपुर और मुंबई में होने वाले दोनों टेस्ट से बाहर रहने वाले अन्य बड़े खिलाड़ी विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत तथा जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की तेज गेंदबाजी जोड़ी है।टी20 श्रृंखला में टीम की अगुआई करने के बाद रोहित यह ब्रेक लेंगे। टेस्ट मैच कानपुर में 25 नवंबर से शुरू होगा।

कोहली मुंबई में तीन दिसंबर से शुरू होने वाले टेस्ट के लिये वापसी करेंगे। भारतीय टेस्ट और वनडे कप्तान कई बार ‘बायो-बबल’ थकान के बारे में बात कर चुके हैं कि इससे खिलाड़ियों को मानसिक रूप से कितनी परेशानी हो रही है।

पंत की अनुपस्थिति में ऋद्धिमान साहा विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी संभालेंगे जबकि केएस भरत श्रृंखला के लिये दूसरे विकेटकीपर होंगे।आंध्र प्रदेश के 28 वर्षीय भरत इंडियन प्रीमियर लीग में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के लिये खेले हैं।

वह इस साल इंग्लैंड के खिलाफ खेली गयी घरेलू टेस्ट श्रृंखला के लिये पांच स्टैंडबाई खिलाड़ियों में शामिल थे। टीम में हनुमा विहारी, चेतेश्वर पुजारा और मयंक अग्रवाल शामिल हैं।

वहीं नया सहयोगी स्टाफ भी टीम से जुड़ेगा। उम्मीद के अनुरूप पारस म्हाम्ब्रे नये गेंदबाजी कोच के तौर पर भरत अरूण की जगह लेंगे जिनका कार्यकाल टी20 विश्व कप में भारत का अभियान समाप्त होने के साथ खत्म हो गया था।अरूण और मुख्य कोच रवि शास्त्री का कार्यकाल नामीबिया के खिलाफ टीम के अंतिम ग्रुप चरण मैच के साथ ही समाप्त हो गया था।

म्हाम्ब्रे नये मुख्य कोच राहुल द्रविड़ के करीबी हैं और इस साल जुलाई में श्रीलंका के भारत दौरे के दौरान सहयोगी स्टाफ का हिस्सा थे जिसमें द्रविड़ मुख्य कोच थे।

विक्रम राठौड़ ने अपना बल्लेबाजी कोच के तौर पर स्थान बरकरार रखा है क्योंकि उन्होंने इस पद के लिये आवेदन किया था जबकि टी दिलीप नये क्षेत्ररक्षण कोच होंगे।माना जाता है कि द्रविड़ क्षेत्ररक्षण कोच के तौर पर अभय शर्मा को चाहते थे लेकिन क्रिकेट सलाहकार समिति ने दिलीप को चुना जो श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम के साथ गये थे।

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला के लिये संभावित टीम :

अंजिक्य रहाणे (कप्तान), केएल राहुल, मयंक अग्रवाल, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), अक्षर पटेल, आर अश्विन, उमेश यादव, ईशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, प्रसिद्ध कृष्णा, केएस भरत (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा।



और भी पढ़ें :