इतने अंतर से सीरीज जीती तो भारत इंग्लैंड से छीन लेगा नंबर 1 टी-20 टीम का ताज

Last Updated: शुक्रवार, 12 मार्च 2021 (13:19 IST)
अहमदाबाद: और की टीमें शुक्रवार से 5 टी-20 सीरीज की शुरुआत अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम से करेंगी। भारत और इंग्लैंड के लिए यह सीरीज न केवल अक्टूबर और नवंबर में होने वाले की तैयारी होगी बल्कि में नंबर 1 की जंग भी साबित होने वाली है।

रैंकिंग के लिहाज से देखें तो इंग्लैंड भारत पर 20 है। आईसीसी टी-20 रैंकिंग में इंग्लैंड शीर्ष पर काबिज है और उसकी रेटिंग 275 है। वहीं भारत की रेटिंग 268 है और वह इंग्लैंड से ठीक नीचे दूसरे स्थान पर है। हालांकि घरेलू परिस्थिती में टीम इंडिया इंग्लैंड का तख्ता पलट कर सकता है।

भारतीय टीम को यह सीरीज कम से कम 4-1 से जीतनी पड़ेगी तब जाकर भारतीय टीम टी-20 विश्वकप के उपविजेता को नंबर 1 की रैंक से बेदखल कर पाएगी। टीम इंडिया के पास नए नवेले खिलाड़ियों की फौज है जिसकी में दरकार रहती है। सूर्यकुमार यादव, इशान किशन, ऋषभ पंत नंबर 1 के इस लक्ष्य को पाने का माद्दा रखते हैं।
वहीं स्पिन गेंदबाजी में एक नाम है जो इंग्लैंड को भयभीत करने के लिए काफी है। वह नाम है अक्षर पटेल। यह देखना दिलचस्प होगा की इंग्लैंड के पॉवर हिटर जैसे डेविड मलान, जेसन रॉय, इयॉन मार्गन उनके खिलाफ क्या रणनीति बनाते हैं।

सीरीज में 1 मैच तो इंग्लैंड कहीं न कही जीत ही जाएगी। नंबर 1 की रैंक पर पहुंचने के लिए टीम इंडिया को यह सुनिश्चित करना होगा कि इंग्लैड 1 से ज्यादा टी-20 मुकाबला यहां न जीते। इस दौरे पर अहमदाबाद के इस स्टेडियम में वैसे भी इंग्लैंड जीत के लिए तरस रहा है।

इंग्लैंड से हई पिछली दो टी-20 सीरीज में भारत ने इंग्लैंड को 1 से ज्यादा मैच वैसे भी नहीं जीतने दिया है। साल 2017 में भारत ने इंग्लैंड को 2-1 से हराया था। वहीं साल 2018 में भी भारत ने इस ही अंतर से इंग्लैंड को हराया। हालांकि अंतर यह है कि अब भारत को 5 मैचों की टी-20 श्रृंखला खेलनी है।

इंग्लैंड के करीब 12 खिलाड़ी आईपीएल 2021 का हिस्सा रहेंगे। इस कारण यह कहा जा सकता है कि अब इंग्लैंड के खिलाड़ी 90 के दशक की तरह यहां कि पिच और परिस्थितियों से अनजान नहीं रहेंगे। आईपीएल से पहले भी वह अपना फॉर्म प्राप्त करना चाहते होंगे इसलिए भारतीय टीम के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रतिबध रहेंगे।
साल 2016 में भारत में ही आयोजित हुए टी-20 विश्वकप में इंग्लैंड उप विजेता रही थी। उसको वेस्टइंडीज के हाथों अंतिम ओवर के मैच में हैरतअंगेज हार का सामना करना पड़ा था। इस बार टीम अपना नतीजा सुधारना चाहेगी और वनडे विश्वकप के साथ टी-20 विश्वकप भी अपने नाम करना चाहेगी। लेकिन उससे पहले इंग्लैंड के सामने चुनौती होगी नंबर 1 का पायदान बचाए रखने की। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :