कुल 4 टेस्ट मैचों का अनुभव लेकर ब्रिसबेन में उतरेंगे 4 भारतीय तेज गेंदबाज

पुनः संशोधित मंगलवार, 12 जनवरी 2021 (15:34 IST)
बॉर्डर गावस्कर सीरीज में हर टेस्ट के बाद भारत अपना एक तेज गेंदबाज खोता चला गया।मोहम्मद शमी एडिलेड में पहले टेस्ट और उमेश यादव मेलबोर्न में दूसरे टेस्ट में चोटिल होकर सीरीज से बाहर हो गए थे। अब तीसरे टेस्ट
के बाद बुमराह तीसरे भारतीय तेज गेंदबाज है जो सीरीज के दौरान चोटिल हुए हैं।

चोटिल खिलाड़ियों की लिस्ट में ज्यादातर तेज़ गेंदबाज ही हैं। जिससे भारत की मुश्किल दिन दुगनी रात चौगनी बढ़ रही है। अब कोई भी अनुभवी गेंदबाज भारत के पास बचा नहीं है।

भारत के पास तेज गेंदबाजी विभाग में अब और नवदीप सैनी के अलावा और रह गए हैं। सिराज के पास दो टेस्टों और सैनी के पास एक टेस्ट का अनुभव है। ठाकुर ने अपना एकमात्र टेस्ट 2018 में खेला था जबकि बाएं हाथ के तेज गेंदबाज नटराजन को अपना टेस्ट पदार्पण करना है।

हालांकि भारत के स्पिन गेंदबाज अश्विन ही जिनके पास 74 टेस्ट मैचों का अनुभव है। लेकिन वह एक स्पिन गेंदबाज हैं। भारत के 4 गेंदबाज कुल 4 टेस्ट मैचों का अनुभव लेकर मजबूत ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम के सामने कैसा प्रदर्शन करेंगे, इस बात की चिंता ने फैंस को अभी से परेशान कर रखा है। (वेबदुनिया डेस्क)



और भी पढ़ें :