IndVsEng 4th Test: रोहित शर्मा अर्धशतक से चूके, ऋषभ पंत ने संभाला मैदान

Last Updated: शुक्रवार, 5 मार्च 2021 (15:08 IST)
हमें फॉलो करें
अहमदाबाद। खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट क्रिकेट मैच में पहली पारी में बढ़त हासिल करने के लिए अब दारोमदार पर आ टिका है।
भारत ने शुक्रवार को दूसरे दिन चाय के विश्राम तक 6 विकेट पर 153 रन बनाए थे। वह अभी इंग्लैंड से 52 रन पीछे है जिसने अपनी पहली पारी में 205 रन बनाए थे। चाय के विश्राम के समय ऋषभ पंत 36 और 1 रन पर खेल रहे थे।
ALSO READ:

400 विकेट लेने वाले अश्विन ने कहा, "मैं तो क्रिकेट का चाहने वाला था, अचानक क्रिकेटर बन गया"

भारत ने सुबह बिना किसी नुकसान के 24 रन से आगे खेलना शुरू किया और बेहद सतर्कता बरती लेकिन उसने पहले सत्र में चेतेश्वर पुजारा (17), कप्तान विराट कोहली (0) और अजिंक्य रहाणे (27) के महत्वपूर्ण विकेट गंवाए। भारत ने इस तरह से
पहले सत्र में 56 रन जोड़े और 3 विकेट गंवाए।
अपने करारे शॉट्स के कारण 'हिटमैन' नाम पाने वाले रोहित ने बेहद सतर्क रवैया अपनाया और 144 गेंदों पर 49 रन बनाए। उन्होंने कुछ अवसरों पर ही अपने तेवर दिखाए। स्टोक्स की स्विंग लेती गेंद उन्हें हैरान करके पैड पर टकराई और डीआरएस में साफ हो गया कि गेंद विकेट पर लग रही थी। स्टोक्स ने इससे पहले कोहली का विकेट भी लिया था।
भारत ने दूसरे सत्र में 73 रन जोड़े और रोहित के अलावा रविचंद्रन अश्विन (13) का विकेट भी गंवाया, जो डीआरएस के सहारे
बचने के बाद ज्यादा देर तक क्रीज पर नहीं टिक पाए। उन्होंने जैक लीच (43 रन देकर 2) की गेंद पर शॉर्ट मिडविकेट पर खड़े ओली पोप को कैच का अभ्यास कराया। इंग्लैंड के दोनों तेज गेंदबाजों जेम्स एंडरसन (19 रन देकर 2) और बेन स्टोक्स (33 रन देकर 2) ने पिच से मदद न मिलने के बावजूद प्रभावित किया।
पंत ने जिम्मेदारीभरी बल्लेबाजी की। पिछले मैच में 5 विकेट लेने वाले जो रूट का स्वागत उन्होंने छक्के से किया लेकिन अच्छी गेंदों को पूरा सम्मान भी दिया। चाय के विश्राम से पहले अंतिम ओवर में डॉम बेस ने उनके खिलाफ पगबाधा की विश्वासनीय अपील की थी।

भारत की तरफ से कोई भी साझेदारी ज्यादा लंबी नहीं खिंच पाई। उसकी 3 साझेदारियां 40 रन के आसपास तक रहीं। इंग्लैंड ने
उसे बीच-बीच में झटके देकर दबाव बनाए रखा। सुबह के पहले घंटे में रोहित और पुजारा ने सतर्क रवैया अपनाया। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 24 ओवरों में 40 रनों की साझेदारी की। इस बीच इन दोनों ने गेंदबाजों को थकाने की रणनीति अपनाई और खराब गेंदों पर ही कुछ शॉट खेले।
पुजारा ने पर्याप्त समय क्रीज पर बिताया लेकिन जैक लीच (36 रन देकर 1) ने उन्हें अपना प्रिय शिकार बना दिया है। लीच की सीधी गेंद को उन्होंने आगे बढ़कर खेलने चाहा लेकिन बल्ला उनके पैड के पीछे रह गया और नितिन मेनन ने एक और अच्छा फैसला दिया।

मोटेरा के नरेन्द्र मोदी स्टेडियम में मौजूद दर्शकों को करारा झटका तब लगा, जब भारतीय कप्तान ने स्टोक्स की अतिरिक्त
उछाल लेती गेंद पर विकेटकीपर बेन फॉक्स को कैच थमाया। कोहली श्रृंखला में दूसरी बार खाता खोलने में नाकाम रहे। रहाणे ने आते ही कुछ आकर्षक चौके लगाए लेकिन लंच से ठीक पहले एंडरसन की स्विंग लेती खूबसूरत गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर स्लिप में बेन स्टोक्स के सुरक्षित हाथों में चली गई। (भाषा)



और भी पढ़ें :