मोहाली की ठंड से तेज गेंदबाजों को मदद

चंडीगढ़| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 21 जनवरी 2013 (00:27 IST)
FILE
पिछले कुछ दिनों से उत्तर भारत कड़ाके की ठंड की चपेट में है और ऐसे में भारत और इंग्लैंड के बीच मोहाली और धर्मशाला में होने वाले आखिरी दो एकदिवसीय मैचों में तेज गेंदबाजों को मदद मिलने की संभावना है।

पिछले कुछ दिनों में मोहाली और पंजाब के अन्य भागों में जमकर बारिश हुई। कल से हालांकि मौसम साफ है लेकिन तापमान गिर गया है तथा शीत लहर चल रही है। मोहाली में 23 जनवरी को मैच होगा तथा पंजाब क्रिकेट संघ (पीसीए) के अधिकारी भारी बारिश के बाद अब मैदान को पूरी तरह से तैयार करने में जुटे है।

दोनों टीमें रविवार को यहां पहुंची। इंग्लैंड कल दोपहर बाद जबकि भारतीय टीम शाम को अभ्यास करेगी। पीसीए के एक अधिकारी ने उम्मीद जताई कि मौसम आगे साफ रहेगा लेकिन उन्होंने साथ ही कहा कि यदि बारिश भी आती है, तब भी मैदान तैयार कर लिया जाएगा।
अधिकारी ने कहा यदि आगे भी बारिश होती है तो हमारे पास जलनिकासी की सर्वश्रेष्ठ व्यवस्था और कम से कम समय में मैदान सुखाने के लिए आधुनिक उपकरण हैं लेकिन उम्मीद है कि मौसम अच्छा रहेगा तथा अगले तीन दिन खूब धूप खिलेगी।

चंडीगढ़ मौसम विभाग की बुधवार तक की भविष्यवाणी के अनुसार, ‘दिन में धूप खिली रहेगी जबकि रात और सुबह के समय धुंध या कुहासा रहेगा।’ मोहाली में आजकल अधिकतम तापमान 16 से 18 डिग्री और धर्मशाला में 13 से 15 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान क्रमश: 6 से नौ डिग्री और 3 से 5 डिग्री सेल्सियस है।
जहां धर्मशाला की बात है तो पिछले कुछ दिनों में धौलाधर पहाड़ियों पर भारी बर्फ गिरी है और वहां बहुत ठंड है जो कि तेज गेंदबाजों के अनुकूल है। धर्मशाला में तैयारियां देख रहे सीनियर अधिकारी ने हालांकि कहा कि दिन में ठंड का ज्यादा असर नहीं पड़ेगा।

उन्होंने कहा, ‘अधिक समस्या नहीं होनी चाहिए। भारत जब हाल में दिल्ली में पाकिस्तान से खेला था तो वहां वास्तव में बहुत ठंड थी। धर्मशाला की स्थिति खराब नहीं होगी।’ (भाषा)



और भी पढ़ें :