सब्जियों की महंगाई के बीच केंद्र सरकार बोली, प्याज की कीमतों में स्थिरता, आलू-टमाटर में नरमी लाने की कोशिश जारी

Last Updated: सोमवार, 18 अक्टूबर 2021 (08:58 IST)
नई दिल्ली। देश में तीन मुख्य सब्जियों की बढ़ती कीमतों के बीच ने रविवार की कहा कि बफर स्टॉक जारी होने से की कीमतों को स्थिर किया जा रहा है जबकि टमाटर और आलू की कीमतों में नरमी के प्रयास जारी हैं।

सरकार ने कहा कि कीमतों में नरमी और न्यूनतम भंडारण हानि सुनिश्चित करने के लिए प्याज के स्टॉक को अगस्त के अंतिम सप्ताह से फर्स्ट-इन-फर्स्ट-आउट (एफआईएफओ) के आधार पर उचित तरीके से बाजार में उपलब्ध कराया जा रहा है।

इसी के परिणामस्वरूप 14 अक्टूबर को महानगरों में खुदरा प्याज की कीमत 42 से 57 रुपए प्रति किलोग्राम के दायरे में पहुंच गई है, वहीं प्याज की अखिल भारतीय औसत खुदरा कीमत 37.06 रुपये प्रति किलोग्राम थी, जबकि औसत थोक दर 30 रुपए प्रति किलोग्राम थी।
खुदरा बाजारों में 14 अक्टूबर को प्याज की कीमत चेन्नई में प्याज 42 रुपए प्रतिकिलो, दिल्ली में 44 रुपए प्रतिकिलो, मुंबई में 45 रुपए प्रति किलो और कोलकाता में 57 रुपए प्रति किलो पर रही।
खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि प्याज का बफर स्टॉक उन राज्यों में जारी किया जा रहा है जहां कीमतें अखिल भारतीय औसत से ऊपर हैं और कीमतें पिछले महीने की तुलना में बढ़ रही हैं।

विभाग ने कहा कि 12 अक्टूबर, 2021 को दिल्ली, कोलकाता, लखनऊ, पटना, रांची, गुवाहाटी, भुवनेश्वर, हैदराबाद, बंगलुरू, चेन्नई, मुंबई, चंडीगढ़, कोच्चि और रायपुर जैसे प्रमुख बाजारों में कुल 67,357 टन प्याज जारी किया गया। (भाषा)



और भी पढ़ें :