शुक्रवार, 12 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. मनोरंजन
  2. बॉलीवुड
  3. लता मंगेशकर
  4. Union ministers condoled the death of Lata Mangeshkar
Written By
Last Updated : रविवार, 6 फ़रवरी 2022 (15:45 IST)

लता मंगेशकर के निधन पर केंद्रीय मंत्रियों ने शोक व्यक्त किया

लता मंगेशकर के निधन पर केंद्रीय मंत्रियों ने शोक व्यक्त किया - Union ministers condoled the death of Lata Mangeshkar
नई दिल्ली। महान गायिका लता मंगेशकर के निधन पर रविवार को कई केंद्रीय मंत्रियों ने सोशल मीडिया पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि स्वर कोकिला के निधन से भारत की आवाज खो गई है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी के निधन से भारत की आवाज़ खो गई है। लता जी ने आजीवन स्वर और सुर की साधना की। उनके गाए हुए गीतों को भारत की कई पीढ़ियों ने सुना और गुनगुनाया है।

सिंह ने कहा, उनका निधन देश के कला और संस्कृति जगत की बहुत बड़ी क्षति है। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लता मंगेशकर के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा, सुर व संगीत की पूरक लता दीदी ने अपनी सुर साधना व मंत्रमुग्ध कर देने वाली वाणी से न सिर्फ भारत बल्कि पूरे विश्व में हर पीढ़ी के जीवन को भारतीय संगीत की मिठास से सराबोर किया।

उन्होंने कहा, संगीत जगत में उनके (लता मंगेशकर) योगदान को शब्दों में पिरोना संभव नहीं है और उनका निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है। शाह ने कहा, मैं खुद को सौभाग्यशाली समझता हूं कि समय-समय पर मुझे लता दीदी का स्नेह और आशीर्वाद प्राप्त होता रहा। अपने अतुलनीय देशप्रेम, मधुर वाणी और सौम्यता से वो सदैव हमारे बीच रहेंगी।

गृहमंत्री ने कहा, उनके परिजनों व असंख्य प्रशंसकों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। ॐ शांति शांति।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शोक प्रकट करते हुए कहा, देश की शान और संगीत जगत की सिरमौर स्वर कोकिला भारत रत्न लता मंगेशकर जी का निधन बहुत ही दुखद है। पुण्यात्मा को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि।

गडकरी ने कहा कि उनका (लता मंगेशकर) जाना देश के लिए अपूरणीय क्षति है जो सभी संगीत साधकों के लिए सदैव प्रेरणा थीं। उन्होंने कहा कि लता दीदी बेहद ही शांत स्वभाव और प्रतिभा की धनी थीं तथा 30 हजार से अधिक गाने गाकर उनकी आवाज ने संगीत की दुनिया को सुरों से नवाजा है।

गडकरी ने कहा, लता दीदी हमेशा हम सभी के लिए प्रेरणा बनी रहेंगी। ईश्वर पुण्यात्मा को शांति प्रदान करें। ॐ शांति। वहीं, वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि लता मंगेशकर नहीं रहीं लेकिन भारत में पीढ़ियों को उनके गीतों से स्नेह रहा है जो सदाबहार हैं। उन्होंने कहा, उनके परिवार एवं प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, स्वर कोकिला, सुर साम्राज्ञी लता जी का निधन ऐसी क्षति है जिसकी भरपाई असंभव है। उनका जाना हर किसी के लिए व्यक्तिगत नुक़सान है।

ठाकुर ने कहा, निजी तौर पर वो मेरी सबसे पसंदीदा गायिका थीं जिन्होंने उम्र के हर पड़ाव पर अपने गायन से मेरे जैसे अनगिनत लोगों को प्रभावित किया, हमारे अंतर्मन पर अपनी अमिट छाप छोड़ी। लता जी के अंदर की भारतीयता उनके संगीत में झलकती थी, उनके जैसा व्यक्तित्व का अवतरण सदियों में होता है।

महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने भी स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन पर शोक व्यक्त किया।विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया, भारत रत्न लता मंगेशकर जी के निधन से काफी दुखी हूं। वह देश की आवाज थीं। यह एक युग का समापन है।

लता मंगेशकर का रविवार को मुंबई स्थित एक अस्पताल में निधन हो गया। वह 92 वर्ष की थीं। उनका पिछले कुछ समय से ब्रीच कैंडी अस्पताल में उपचार चल रहा था। वे कोरोनावायरस से संक्रमित पाई गई थीं।(भाषा)