0

महात्मा गांधी के 2 पसंदीदा लेखक कौन थे?

सोमवार,सितम्बर 28, 2020
0
1

महात्मा गांधी के 10 अनमोल वचन

सोमवार,सितम्बर 28, 2020
महात्मा गांधी एक नेता ही नहीं, बल्कि युगपुरुष थे। वे भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक हैं। जिन्होंने सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए देश आजादी दिलाई। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं महात्मा गांधी के 10 खास अनमोल वचन-
1
2

हिन्दी निबंध : महात्मा गांधी

सोमवार,सितम्बर 28, 2020
महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था। इनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था। इनके पिता का नाम करमचंद गांधी था।
2
3
भारत के अमर शहीदों में सरदार भगत सिंह का नाम सबसे प्रमुख रूप से लिया जाता है। जिस दिन भगत सिंह पैदा हुए उनके पिता एवं चाचा को जेल से रिहा किया गया।
3
4
पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्म 25 सितंबर 1916 को मथुरा जिले के नगला चंद्रभान गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम भगवती प्रसाद उपाध्याय और माता का नाम रामप्यारी था।
4
4
5
पंडित दीनदयाल उपाध्याय मात्र राजनेता नहीं थे, वे उच्च कोटि के चिंतक, विचारक और लेखक भी थे। उन्होंने शक्तिशाली और संतुलित रूप में विकसित राष्ट्र की कल्पना की थी। आइए पढ़ें उनके 10 अनमोल और प्रेरक विचार...
5
6
बंदर बोला, मिस्टर हाथी, क्यों लंगड़ाते आप। नहीं दिया उत्तर प्रणाम का, भाग रहे चुपचाप।
6
7

Lockdown क्या है ? जानिए जरूरी बातें

रविवार,सितम्बर 20, 2020
अब पूरा देश इस वायरस से लड़ने के लिए अपने-अपने घरों में कैद हो गया है। इस महामारी के प्रकोप से लाखों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और इससे बचने का सिर्फ एक ही रास्ता है और वो है सोशल डिस्टेंसिग यानी कि सामाजिक दूरी। यह संक्रमण एक से दूसरे इंसान तक बहुत ...
7
8

CoronaVirus से बचने के 10 बड़े उपाय

रविवार,सितम्बर 20, 2020
कोरोना महामारी से इस वक्त पूरा देश परेशान है। इससे बचने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं। अगर कोरोना से बचना है तो हमें कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। आइए जानते हैं 10 बड़े उपाय
8
8
9
कोरोना वायरस से पूरे विश्व में हड़कंप मचा हुआ है। इस संक्रमण के कारण कई लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं। इस वायरस से बचने के लिए तरह-तरह के उपाय किए जा रहे हैं। वैज्ञानिक व शोधकर्ता इसके लिए दवा बनाने में जुटे हुए हैं। आखिर क्या है यह कोरोना वायरस ...
9
10
चॉकलेट यदि खाना हो तो, पैदल मेरे साथ चलो। यदि खिलौने लाना हो तो, पैदल मेरे साथ चलो।
10
11
दोनों खुशी से फूले नहीं समां रहे थे। घर के लोग उन्हें घेर कर बैठे थे। 'अब तो भैया इंजीनियर बन के ही आएंगे, ये गए और वो वापस आएं, जाने भर की देर है, इंटरव्यू में सिलेक्शन पक्का ही समझो।
11
12
एक बार एक पंडित जी ने एक दुकानदार के पास पांच सौ रुपए रख दिए। उन्होंने सोचा कि जब मेरी बेटी की शादी होगी तो मैं ये पैसा ले लूंगा।
12
13
आज भारत रत्न मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया का जन्मदिवस है, भारत में प्रतिवर्ष 15 सितंबर को इंजीनियर डे मनाया जाता है। इस दिन को महान इंजीनियर एम. विश्वेश्वरैया को समर्पित किया गया है
13
14
हिन्दी हमारे दिलों में रचती-बसती है। आइए हिन्दी दिवस पर जानते हैं क्या कहते हैं साहित्यकार, राजनेता और अन्य विद्वान। पढ़ें 25 अमूल्य विचार:-
14
15
हर साल हम 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाते हैं। यहां आपके लिए प्रस्तुत हैं कुछ छोटे-छोटे और प्रभावी नारे जो हर किसी के लिए भी उपयोगी हो सकते हैं...
15
16
हिंदी ने हमें विश्व में एक नई पहचान दिलाई है। हिंदी दिवस भारत में हर वर्ष '14 सितंबर' को मनाया जाता है। हिंदी विश्व में बोली जाने वाली प्रमुख भाषाओं में से एक है।
16
17
विनोबा भावे का जन्म महाराष्ट्र के कोलाबा (अब रायगढ़) जिले के गागोडे गांव में 11 सितंबर 1895 को एक चितपावन ब्राह्मण परिवार में हुआ था।
17
18
देश के नाम एक शि‍क्षक की दुखभरी दास्‍तान...
18
19
प्राचीन भारत में ऋषि-मुनि वन में कुटी या आश्रम बनाकर रहते थे। जहां वे ध्यान और तपस्या करते थे। उक्त जगह पर समाज के लोग अपने बालकों को वेदाध्यन के अलावा अन्य विद्याएं सीखने के लिए भेजते थे। ब्रह्मचर्य आश्रम को ही मठ या गुरुकुल कहा जाता है। आओ जानते ...
19