0

मई माह के बारे में यह 5 खास बातें जानिए

शनिवार,मई 21, 2022
lily of the valley
0
1
23 May Black Day Of Tibet : चीन अपनी साम्राज्यवादी नीति के कारण जाना जाता है। दूसरे की जमीन हड़पकर अपने क्षेत्र के विस्तार करने के कारण चीन के भारत, रूस, ताइवान, ऑस्ट्रेलिया, मंगोलिया, हांगकांग आदि देशों से विवाद चलता रहता आ रहा है। चीन साम, दाम, ...
1
2
कहते हैं विपदाएं ही व्यक्ति को मजबूत बनती है। वास्तविक उदाहरण है बछेंद्री पाल। उन्होंने बचपन से संघर्षों के साथ स्वयं को ढाल लिया और उन परिस्थितियों को पार कर उन्होंने सागर के माथे पर ( सागरमाथा पर्वत ) कदम रख दिए। आइए जानते हैं बछेंद्री पाल के बारे ...
2
3
प्रतिवर्ष साल 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस (Anti Terrorism Day) मनाया है। इसी दिन यानी 21 मई 1991 को भारत के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तमिलनाडु के श्रीपेरुंबुदूर में लिट्‍टे आतंकवादियों ने हत्या कर दी थी।
3
4
आज ही के दिन 20 मई को 1498 में पुर्तगाली नाविक व्यापारी वास्को डी गामा भारत आया था। वह समुद्र के रास्ते से भारत आया था। उन्होंने भारत के कालीकट बंदरगाह से भारत पर पहला कदम रखा था।
4
4
5
20 मई को दुनिया भर में विश्व मधुमक्खी दिवस (World Bee Day) मनाया जाता है। विश्व में पहली बार 20 मई 2018 को मधुमक्खी दिवस मनाया गया था और तब से हर साल मनाया जा रहा है।
5
6
पेड़ ने जीवन दिया है, पेड़ ने दी जिंदगी। पेड़ को शत-शत नमन है, पेड़ को है बंदगी। पेड़ हैं तो प्राणवायु, पेड़ हैं तो अन्न जल।
6
7
टोप नहीं साहब के सिर पर, सिर नंगा है साहब का। नंगा सिर देखा तो देखा, सिर गंजा है साहब का।
7
8
20 मई हर भारतीय विशेषकर पर्वतारोहियों के लिए गर्व का दिन रहता है। इस दिन 1965 में कर्नल अवतार सिंह चीमा हिमालय की चोटी पर चढ़ने वाले पहले भारतीय बने थे। इस फतह से भारत उस समय चौथा देश बना था जो एवेरेस्ट पर चढ़ सके थे। एवेरेस्ट पर चढ़ने के लक्ष्य से ...
8
8
9
आज यह बात हमें आश्चर्य से भर देती है कि प्राचीन समय में जब बिजली नहीं होती थी तब भी फव्वारे चलाए जाते थे। यह सब किसी भी जादू से नहीं होता था,इन सभी के पीछे विज्ञान था। आर्कमेडिक के सिद्धांत, दबाव के बल के उपयोग और गुरुत्वाकर्षण बल के उपयोग से तकनीक ...
9
10
बिपिन चंद्र पाल। वह एक कर्मठ और निडर व्यक्तित्व थे। वह एक पत्रकार, लेखक, शिक्षक और अद्भुत वक्ता थे। उन्हें राष्ट्रवादी नेता के रूप में जाने जाते थे। वे गरम दल के नेता थे। 20 मई को उन्हें नमन करते हुए जानते हैं उनकी कुछ ख़ास बातें -
10
11
लाल बाल पाल के बिपिन चंद्र पाल कौन थे, जानिए खास बातें
11
12
हम अगर किसी भी 90 के दशक के प्रेमी से पूछें तो उसे एक धारावाहिक तो अवश्य याद आता होगा, 'एक था रस्टी'। यह रस्किन बांड की कहानियों पर ही आधारित था। साहित्य में रुचि रखने वाले रस्किन बांड को एक 'प्यारे लेखक' और ' बच्चों का लेखक' के रूप में देखते हैं। ...
12
13
संग्रहालय अनेक प्रकार के होते हैं जैसे पुरातत्व संग्रहालय, जनजाति संग्रहालय, रेल संग्रहालय, भ्रम (illusion) संग्रहालय इत्यादि। प्रति वर्ष 18 मई को अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस (international museum day ) मनाया जाता है ताकि लोगों में संग्रहालयों के ...
13
14
विश्व के प्रथम पत्रकार हमारी संस्कृति में थे। देवर्षि नारद को प्रथम संप्रेषक (communicator ) माना जाता है। नारद जयंती के पावन अवसर पर कई पत्रकारिता अध्ययनशालाओं में, पत्रकारों के द्वारा और जनसंचार विभागों में इस महान संप्रेषक का पूजन होता है और अनेक ...
14
15
आज भी भारत में ऐसे अनेक संग्रहालय हैं जिनका दौरा किये बिना भारत की सांस्कृतिक इतिहास या संस्कृति की जानकारी अधूरी ही रहती है।सरकारों द्वारा इन संग्रहालयों का निर्माण और संचालन किया जा रहा है।
15
16
राजा भोज के बारे में पढ़ते समय हमें एक रोबोट का भी वर्णन मिलता है जिसे यंत्रपुत्रक कहा गया। श्रृंगारमंजरीकथा में जब राजा भोज आत्मप्रशंसा और आत्मवर्णन से स्वयं को घिरा हुआ समझते हैं तो वह पाते हैं कि स्वयं अपना वर्णन नहीं करना चाहिए। इस कारण वह एक ...
16
17
आजकल हमारी जिंदगी में Social Media अभिन्न अंग बन गया है। हमारे पास सूचनाओं की कोई कमी नहीं रह गई। हम कह सकते हैं कि हम वर्तमान में सूचनाओं से घिरे हुए हैं। ऐसे में कई बार हम असत्य, अप्रमाणिक और गुमराह करने वाली सूचनाओं को आगे फॉरवर्ड कर देते हैं। और ...
17
18
बौद्ध धर्म (Buddhist Religions) के संस्थापक भगवान बुद्ध हैं। हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए महात्मा बुद्ध भगवान विष्णु के नौवें अवतार हैं। गौतम बुद्ध (Gautam Buddha) भारत में जन्म लेने वाले महानतम व्यक्ति थे। उनका बचपन का नाम सिद्धार्थ था। उन्हें गौतम ...
18
19
Inspirational story of lord buddha एक महाप्रतापी और धन-धान्य से समृद्ध राजा के घर जन्म लेने के बावजूद उन्होंने पारिवारिक मोह-माया का त्याग किया और संन्यास का मार्ग अपनाया। संन्यास और तपस्चर्य के मार्ग पर चलते हुए उन्हें जिस अमूल्य ज्ञान की प्राप्ति ...
19