बाल गीत : हम भी पढ़े लिखे हैं

kisan
हम भी पढ़े लिखे हैं भैया,
हम भी पढ़े लिखे हैं।

एक सुदूर गांव में रहते,
करते रोज किसानी।
हम अपनी मेहनत से लिखते,
मिट्‍टी कीचड़ पानी।।

इस मिट्‍टी पानी में ही तो,
मोती बड़े जड़े हैं भैया,
हम भी पढ़े लिखे हैं।

अक्षर लिखना सीख चुके हैं,
पढ़ते, कथा कहानी।
जोड़ घटाना हमें सिखाती,
मेरी बिटिया रानी
साक्षरता अभियान चल रहा,
हम भी जुड़े हुए हैं भैया,
हम भी पढ़े लिखे हैं।

घर का सभी किराना लेने,
हम बाजार हैं जाते।
सब चीजों को देख परख कर,
पैसे हमी चुकाते।
रामायण गीता पढ़ने से,
आगे कदम बढ़े हैं भैया,
हम भी पढ़े लिखे हैं।


और भी पढ़ें :