बाल कविता : समय का मूल्य

exam time
children
-डॉ. प्रमोद सोनवानी 'पुष्प'
रोज सुबह तड़के उठकर अब,
सैर-सपाटे करना है।

बड़े लगन से मेहनत करके,
सुबह-शाम नित पढ़ना है।।1।।

समय बड़ा अनमोल है जी,
समझना है।

बात पुरानी छोड़ो कल की,
अब तो समय पर चलना।।2।।



और भी पढ़ें :