दीवाली से पहले मनी 'दीवाली'

नई दिल्ली (भाषा) | भाषा|
अटारी चेकपोस्ट के सीमावर्ती गाँवों से लेकर कोलकाता, दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, राँची, इंदौर और हर छोटे-बड़े शहर में भारत की ट्वेंटी-20 विश्व कप जीत से दीवाली से पहले 'दीवाली' मनाई।

भारत ने जैसे ही जोहानसबर्ग में खेले गए फाइनल में पाकिस्तान का अंतिम विकेट हासिल किया, वैसे ही देश के हर कोने में आकाश पटाखों की आवाज से गूँजने लगा, जिसका शोर देर रात तक सुनाई देता रहा।

पाकिस्तानी सीमा से जुड़े डोके, मावा, अटारी और रोरावाली गाँवों में भी खूब धूम मची। ये गाँव पाकिस्तान से इतनी दूरी पर बसे हैं कि यहाँ के लोग यदि जोर से पत्थर फेंकेंगे तो वह पाकिस्तानी सरजमीं पर गिरेगा।
दिल्ली में तो सुबह से ही लोगों ने पटाखे जमा कर रखे थे। जब मैच चल रहा था तो सड़कें सूनी पड़ी थीं। पाकिस्तान के हर विकेट पर गली मोहल्लों से उठते शोर से पता लग जाता कि भारत जीत की तरफ बढ़ रहा है।

कोलकाता में तो इंद्र देवता पहले ही जीत की खुशी मनाने लगे थे। वहाँ जमकर बारिश हुई, लेकिन इससे लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। लोगों ने जीत के बाद मिठाइयाँ बाँटीं और पटाखे छोड़े।
मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरू, हैदराबाद, भोपाल, इंदौर, जयपुर, चंडीगढ़, लखनऊ, कप्तान धोनी के गृहनगर राँची में भी यही आलम था। चंडीगढ़ में तो युवराजसिंह के पिता और पूर्व क्रिकेटर योगराजसिंह ने सुबह ही जश्न मनाने की शुरुआत कर दी थी।

प्रधानमंत्री ने दी बधाई : प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने ट्वेंटी-20 क्रिकेट विश्व कप जीतने पर भारतीय टीम को बधाई दी है। प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए इस प्रतियोगिता के फाइनल मुकाबले को अत्यंत दिलचस्पी के साथ देखा।
प्रधानमंत्री ने टीम को भेजे बधाई संदेश में उनके प्रदर्शन की प्रशंसा करते हुए कहा कि भारतीय टीम बहुत अच्छा खेली, उस पर हमें गर्व है। उन्होंने टीम इंडिया से आगे भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जताई।

प्रधानमंत्री ने फाइनल मैच शुरू होने से पहले टीम इंडिया को शुभकामना भी भेजी थी। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गाँधी ने भी भारतीय टीम को बधाई दी है।
इंदौर में मना ऐतिहासिक जश्न : मध्यप्रदेश की औद्योगिक और सांस्कृ‍तिक राजधानी इंदौर में भी जीत का जश्न बेहद उल्लास के साथ मनाया गया। इंदौर का दिल माने जाने वाले राजवाड़ा पर युवाओं की टोलियाँ देखते ही देखते जमा होने लगीं।

अपने वाहनों पर सवार युवाओं के हाथ में तिरंगे ध्वज थे और वे टीम इंडिया की जीत के नारे लगा रहे थे। बाद में यहाँ इतने लोग जमा हो गए कि पुलिस को रास्ता ही बंद करना पड़ा। उत्साही लोगों का हुजूम पलासिया की तरफ बढ़ चला था।
56 दुकान के समीप युवाओं ने सड़क को घेर लिया और वे नाच-गाकर अपनी खुशी का इजहार करने लगे। लंबी दूरी तक 'जाम' लग गया। शहर के दूसरे हिस्सों से भी देर रात तक जीत का जश्न मनाने के समाचार हैं। पूरे शहर में जमकर आतिशबाजी की गई और एक-दूसरे को बधाई दी।



और भी पढ़ें :