प्रीति के टीम के टॉप स्कोरर शाहरुख खान ने यह कहा मैच के बाद

पुनः संशोधित शनिवार, 17 अप्रैल 2021 (14:39 IST)
मुंबई:के को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में 'फिनिशर' की भूमिका निभाने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है और इस युवा बल्लेबाज ने कहा कि वह किसी भी तरह की परिस्थिति और किसी भी स्थान पर खेलने की क्षमता रखते हैं।
खान ने के खिलाफ शुक्रवार को 36 गेंदों पर 47 रन बनाये जि​ससे पंजाब 100 रन की संख्या पार कर पाया।

उन्होंने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मेरी भूमिका निचले क्रम में फिनिशर की है लेकिन आप हर मैच में क्रीज पर उतरते ही ताबड़तोड़ रनों की उम्मीद नहीं कर सकते हो क्योंकि ऐसी भी परिस्थितियां आती हैं जब आपको जिम्मेदारी से खेलने की जरूरत होती है।’’
खान ने कहा, ‘‘मुझे फिनिशर माना जाता है। मैं अच्छा बल्लेबाज हूं। मैं दो वर्षों से तमिलनाडु के लिये शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी कर रहा हूं। मैं किसी भी क्रम में बल्लेबाजी करने और टीम को मुश्किल परिस्थितियों से बाहर निकालने की योग्यता रखता हूं। ’’

इस 25 वर्षीय बल्लेबाज ने कहा कि शीर्ष खिलाड़ियों की मौजूदगी में खेलने से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिलेगा।
उन्होंने कहा, ‘‘टीम में निकोलस पूरन, क्रिस गेल, डाविड मलान और केएल राहुल से कई चीजें सीखने को मिल रही है। इससे निश्चित तौर पर बल्लेबाजी में सुधार होगा। अभी लंबा रास्ता तय करना है।’’
तमिलनाडु के शाहरुख खान (जिनका नाम बालीवुड सुपरस्टार के नाम पर है) को उनके आधार मूल्य 20 लाख रुपए से 51 गुना से ज्यादा की राशि 5.25 करोड़ रुपए में खरीदा गया था। शाहरुख हाल में सैयद मुश्ताक अली ट्राफी में अपने प्रदर्शन से सुर्खियों में आए थे।
उनको अपनी टीम में लेने के लिए पंजाब किंग्स, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और दिल्ली कैपिटल्स में होड़ लग गई थी, लेकिन अंतिम बाजी पंजाब किंग्स ने मारी थी।आईपीएल नीलामी में वह दूसरे सबसे महेंगे भारतीय खिलाड़ी रहे थे वह भी अनकैप्ड।

राजस्थान से हुए मुकाबले में पंजाब किंग्स के वरिष्ठ खिलाड़ी क्रिस गेल ने उनको टीम की कैप सौंपी थी। हालांकि उन्होंने असली कमाल कल चेन्नई सुपर किंग्स से हुए मैच में दिखाया। अगर वह 47 रनों की पारी ना खेलते तो पंजाब को और भी बुरी हार का सामना करना पड़ता उनकी पारी के कारण ही पंजाब की टीम 100 पार पहुंच पायी।
शाहरुख़ आखिरी ओवर में सैम करेन का शिकार बने। उस समय पंजाब का स्कोर 101 रन था। उन्होंने 36 गेंदों में 4 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 47 रन बनाकर टीम को 100 रन के पार पहुंचाया। हालांकि वह में अपना पहला अर्धशतक बनाने से चूक गए।(भाषा)



और भी पढ़ें :