अमेरिका के टेक्‍सास में मिला 'मंकीपॉक्‍स' का पहला मरीज

Last Updated: शनिवार, 17 जुलाई 2021 (16:40 IST)
टेक्सास। कोरोना(Coronavirus) की दूसरी और तीसरी लहर से जूझ रही दुनिया के सामने अब अत्यधिक खतरनाक वायरस का खतरा मंडरा रहा है। इसी बीच, अमेरिका से चिंता बढ़ाने वाली खबर सामने आई है, यहां नई बीमारी मंकीपॉक्स (Monkeypox) का पहला मामला सामने आया है।
खबरों के मुताबिक, मंकीपॉक्स का पहला मामला टेक्सास में पाया गया है। यह दुर्लभ बीमारी एक अमेरिकी में पाई गई है, जिसने हाल ही में नाइजीरिया से अमेरिका की यात्रा की थी। मरीज को डलास के अस्पताल में भर्ती किया

गया है।

इससे पहले 2003 में अमेरिका में इस बीमारी के कुछ मामले मिले थे।

आखिर क्या है मंकीपॉक्स? : डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, मंकीपॉक्स जानवरों से इंसानों में फैलने वाली एक संक्रामक बीमारी है। 1970 में इस वायरस की पहचान हुई और ये बीमारी अक्सर मध्य और पश्चिमी अफ्रीकी देशों में फैलती है और यहीं से दूसरे हिस्सों में भी फैलती है। ये बीमारी संक्रमित जानवर से सीधे संपर्क में आने से फैल सकती है।

क्या हैं लक्षण, कैसे पता चलेगा का? : इस बीमारी में भी स्मॉलपॉक्स यानी चेचक की तरह ही लक्षण होते हैं। इस बीमारी में बुखार, सिरदर्द, कमर में दर्द, मांसपेशियों में अकड़न और कमजोरी आने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।



और भी पढ़ें :