सोमवार, 15 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. नन्ही दुनिया
  3. प्रेरक व्यक्तित्व
  4. Kasturba Gandhi
Written By WD Feature Desk

कस्तूरबा गांधी के बारे में 5 रोचक बातें

Kasturba GandhiI कस्तूरबा गांधी के बारे में 5 रोचक बातें - Kasturba Gandhi
जन्म: 11 अप्रैल 1869 
मृत्यु: 22 फरवरी 1944
 
HIGHLIGHTS
 
• कस्तूरबा का विवाह महात्मा गांधी से हुआ था। 
• स्वतंत्रता संग्राम के समय श्रीमती कस्तूरबा गांधी बहुत सक्रिय रहीं थीं। 
• कस्तूरबा जी का नाम भारत के गौरवशाली इतिहास में प्रमुखता से लिया जाता है। 
 
1. कस्तूरबा गांधी का जन्म 11 अप्रैल 1869 को काठियावाड़ के पोरबंदर नगर में हुआ था। उनका अन्य नाम 'बा' था। उनके पिता गोकुलदास मकनजी एक साधारण व्यापारी थे। तथा माता का नाम वृजकुंवरी था। और कस्तूरबा उनकी तीसरी संतान थीं।
 
2. कस्तूरबा बचपन में निरक्षर थीं, क्योंकि उस जमाने में लड़कियों को कोई पढ़ाता नहीं था। अत: मात्र 7 साल की उम्र में उनसे एक साल छोटे यानी 6 साल के मोहनदास/ महात्मा गांधी से उनकी सगाई की गई। और 13 साल की उम्र में उनकी शादी कर दी गई। लगभग 62 वर्ष की उम्र तक उन्होंने वैवाहिक जीवन बिताया। उनकी चार संतानें थी, जिनका नाम हरिलाल, मणिलाल, रामदास, देवदास था। 
 
3. स्वतंत्रता आंदोलन में कस्तूरबा गांधी महात्मा गांधी के साथ सैनिक सहायता के रूप में कार्य करने वाली पहली महिला प्रतिभागी थीं। जिन्होंने स्वतंत्र भारत के उज्ज्वल भविष्य की कल्पना की थीं और गांधी जी के जेल जाने पर स्वाधीनता संग्राम के सभी अहिंसक प्रयासों में अग्रणी बनी रहीं। अत: कस्तूरबा के आत्मबलिदान, महिलाओं के प्रति शिक्षा का भाव तथा आजादी का मोल को समझने वाली 'बा' ने हर कदम पर गांधी जी का साथ निभाया। 
 
4. गांधी जी गिरफ्तर होने और जेल जाने पर जब 9 अगस्त 1942 को कस्तूरबा गांधी मुंबई के शिवाजी पार्क में भाषण देने जा रही थीं, तभी उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया, उस समय उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था, गिरफ्तारी की रात से जो उनका स्वास्थ्य बिगड़ा था वो फिर ठीक न हो सका और उन्होंने 22 फरवरी 1944 को अपने प्राण त्याग दिए। 
 
5. धार्मिक रूप से सहिष्णु रही 'बा' ने अपने जीवन को भी गांधी जी की तरह ही साधारण बना लिया था। तथा उन्होंने अपना संपूर्ण जीवन अपने पति और देश के लिए व्यतीत किया। देश की आजादी, भारत के स्वतंत्रता संग्राम और सामाजिक उत्थान में उनका योगदान प्रेरणादायक और बहुमूल्य था। 

अस्वीकरण (Disclaimer) : चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म, ज्योतिष, इतिहास, पुराण आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित  वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं, जो विभिन्न सोर्स से लिए जाते हैं। इनसे संबंधित सत्यता की पुष्टि वेबदुनिया नहीं करता है। सेहत  या ज्योतिष संबंधी किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।
ये भी पढ़ें
35 पार महिलाएं जरूर खाएं ये 5 फूड्स, हड्डियां होंगीं मजबूत और मेनोपॉज की तकलीफें भी होंगी कम