0

त्वचा कैंसर पर बिना चीर-फाड़ प्रहार करेगी नयी बैंडेज

शुक्रवार,अक्टूबर 16, 2020
Skin cancer
0
1
इस डे के पीछे डायरिया, आंख और त्वचा से संबंधी बीमारियों से बचाव करना है। इस समय जबकि कोरोना वायरस का संक्रमण काल चल रहा है, ऐसे में यह दिवस और ज्‍यादा अहम हो जाता है।
1
2
एक शोध में मिशिगन हेल्थ सिस्टम विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि चाय की हरी पत्तियों की सहायता से गठिया जैसे रोग का इलाज सम्भव है।
2
3
स्टार्टअप कंपनियों द्वारा अनेक नवाचारी एवं उपयोगी उत्पाद बाजार में लगातार उतारे भी जा रहे हैं। इसी कड़ी में काम करते हुए आईआईटी दिल्ली द्वारा इनक्यूबेटेड स्टार्टअप कंपनी ‘नैनोसेफ सॉल्यूशन्स’ ने रोगाणु-रोधी पानी की बोतलों की एक नयी श्रृंखला विकसित की ...
3
4
आईआईएससी द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि यह अध्ययन ट्यूमर कोशिकाओं के भीतर नैनोमोटर्स के उपयोग से कैंसर कोशिकाओं को लक्ष्य बनाने के नये तरीके पर प्रकाश डालता है।
4
4
5
लि‍वर की चर्बी या वसा की मात्रा को नियंत्रित करते हुए उसे पांच प्रतिशत से कम रखें तो इन गंभीर बीमारियों एवं स्वास्थ्य जटिलताओं से बचा जा सकता है। प्रोफेसर सरीन ने कहा कि एएलटी/एसजीपीटी एंजाइम लिवर स्वास्थ्य का सूचक होता है।
5
6
रासायनिक विज्ञान और जीवन विज्ञान के क्षेत्र में दो अलग-अलग पुरस्कार दिए जाते हैं। प्रत्येक पुरस्कार में बीस हजार रुपये का नकद पुरस्कार और एक प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।
6
7
अनुसंधानकर्ता दल को नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ (एनआईएच) के टेक्नोलॉजी एक्सिलरेटर चैलेंज पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
7
8
1981 के आसपास लिखी गई इस किताब में एक संक्रमण का जिक्र है और इसे वुहान 400 का ही नाम दिया गया है। यानी आज से करीब 40 साल पहले उस वायरस के बारे में लिए किताब में जिक्र कर दिया गया था। एक अमेरिकी की यह कृति शुरु तो एक ऐसी मां से होती है जो अपने बच्चे ...
8
8
9
भारतीय शोधकर्ताओं ने सीओपीडी के निदान के लिए इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) आधारित एक नया डायग्नोस्टिक सिस्टम ईजाद किया है।
9
10
अध्ययन में स्पष्ट किया गया है कि भारतीयों में टाइप-1 मधुमेह के निदान के लिए जेनेटिक रिस्क स्कोर प्रभावी हो सकता है।
10
11
शोधकर्ताओं ने एक ऐसे तत्व का पता लगाया है, जिसमें अग्नाशय के कैंसर से संबंधित शुरुआती अध्ययनों में कैंसर-रोधी गुण देखे गए हैं।
11
12
बीजिंग। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण होने वाली बीमारी के लक्षण, उसके निदान और शरीर पर उसके असर करने के तरीके का पता लगाने वाले वैज्ञानिकों का कहना है कि कोविड-19 के कारण लोगों की मौत मुख्य रूप से रोग प्रतिरोधक क्षमता के अत्यधिक सक्रिय हो जाने की वजह ...
12
13
मेड‍िकल सेवाओं में और मरीज के इलाज में नर्सेस की भूम‍िका काफी महत्‍वपूर्ण होती है।
13
14
जो वायरस तथा सांस जनित रोगों से आराम दिलाने में मददगार हो सकता है।
14
15
लोग अपने-अपने तरीके से इन उपायों को देख रहे हैं। अब सोशल मीडिया पर तमाम पोस्ट में कहा जा रहा है कि कुछ-कुछ देर में पानी पीकर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सकता है।
15
16
कोविड-19 के संक्रमित होने के खतरे से ग्रस्त दूसरे व्यक्तियों की तुलना में किडनी रोगियों के लिए यह स्थिति अधिक चुनौतिपूर्ण है
16
17
हालात अभी भी चिंताजनक बने हुए हैं। इसी बीच यह भी सवाल उठ रहा है आखिर यह वायरस कितने समय तक जिंदा रहता है।
17
18
चीन में फैले कोरोनावायरस से भारत भी चिंतित है। इसके लिए भारत ने पहले से ही इस पर निगाह रखना शुरू कर दिया है।
18
19
दुनिया अब कोरोनावायरस से दहशत में है। हालांकि फिलहाल यह सिर्फ चीन में देखा जा रहा है। लेकिन इसकी आहट से भारत भी अलर्ट हो गया है।
19