चैत्र नवरात्रि में कर रहे हैं उपवास, तो इन 5 बातों का जरूर रखें ध्यान

5 diet tips for healthy fasting
मां की भक्ति कई भक्तगण करते हैं। लेकिन गर्मी के माह के दौरान चैत्र नवरात्रि में उपवास करते हुए सेहत का ख्याल रखना भी जरूरी है। जी हां, चैत्र नवरात्रि में गर्मी अधिक बढ़ जाती है। ऐसे बच्चे, बूढ़ें और गर्भवती महिलाओं को अपनी सेहत का ख्याल रखना भी जरूरी होता है। तो आइए जानते हैं चैत्र नवरात्रि में उपवास करते वक्त सभी अपना ध्यान कैसे रख सकते हैं। इससे शरीर में पोषण की कमी भी नहीं हो-

1. गर्मी में आने वाली चैत्र नवरात्रि में भी बच्चे माता रानी के लिए उपवास रखते हैं तो उन्हें भरपूर फलाहार खाना चाहिए। वह सिर्फ चिप्स नहीं खाएं। इससे गैस जैसी समस्या भी उत्पन्न हो सकती है। उपवास में भी दूध जरूर पिएं। फ्रूट्स खाते रहे और खूब सारा पानी पीना नहीं भूलें।

2. नवरात्रि में महिलाओं को कई काम होते हैं। ऐसे में वह माता की आराधना तो करती है लेकिन अपनी सेहत का ख्याल नहीं रख पाती है। ऐसा कभी नहीं करें। ठीक से फलाहार नहीं खाने पर चक्कर भी आ सकते हैं, बीपी की समस्या भी हो सकती है। इसलिए काम के साथ अपनी सेहत का ख्याल जरूर रखें। एक वक्त फरियाल खाते हैं तो दूसरे वक्त ज्यूस, शेक या फ्रूट्स जरूर खाएं। इससे आपके शरीर में पोषण की कमी नहीं होगी।

3. गर्भावस्था होने पर भी महिलाएं व्रत जरूर करती है। हालांकि डॉ. ऐसे समय में व्रत करने की सलाह नहीं देते हैं। लेकिन अगर आप व्रत करती हैं तो थोड़ा सा भी खाली पेट नहीं रहें। भरपूर दूध पिएं, फ्रूट्स खाते रहें, कोशिश करें ज्यादा आलू या तेल की चीजें नहीं खाएं। आप चाहे तो सिंघाड़े से बने हुए आटे की रोटी और लौकी की सब्जी भी खा सकते हैं। वह मां और बच्चा दोनों के लिए लाभदायक रहेगी।
4. नवरात्रि महिलाएं तो करती है लेकिन पुरुष भी करते हैं। हालांकि वह व्यापार के दौरान खान-पान का उतना अधिक ख्याल नहीं रख पाते हैं। लेकिन ऐसे समय में पानी भरपूर पीते रहें, ज्यूस पीते रहें या फ्रूट्स भी खा सकते हैं। कोशिश करें उपवास के दौरान अधिक चाय या कॉफी का सेवन नहीं करें। इससे आपकी बॉडी को नुकसान हो सकता है।


5. नवरात्रि में अधिक कोशिश करें कि तला-भुना हुआ नहीं खाएं। गर्मी अधिक होने से नुकसानदेह हो सकता है। फिर चाहे वह बच्चे हो या बड़े लोग। इन 9 दिनों में हेल्दी खाना ही खाएं।





और भी पढ़ें :