अच्‍छी ‘लाइफस्‍टाइल’ से ‘पोस्‍टपोंड’ हो सकती हैं आपकी बीमारियां

यह बात कई सालों से कही जा रही है। अच्‍छी लाइफ स्‍टाइल आपकी सेहत तंदुरुस्‍त रख सकती है, जबकि खराब लाइफ स्‍टाइल सेहत बि‍गाड सकती है और कई तरह की बीमारियां दे सकती है।
जिस तरह से कोरोना का संक्रमण आया है और तमाम दुनिया में हताहत हो रहे हैं,इससे कुछ भी निश्‍चित नहीं है, लेकिन इतना तो तय है कि अच्‍छी लाइफस्‍टाइल की प्रैक्‍ट‍िस से आप अपने को लगने वाली कई बीमारियों को आगे ‘पोस्‍टपोंड’ कर सकते हैं।

इस बात की पुष्‍ट‍ि डॉक्‍टर भी करते हैं कि अच्‍छी जीवन शैली अपनाकर बीमारि‍यां का समय स्‍थगि‍त किया जा सकता है। आइए जानते हैं कैसे।

एक्‍ट‍िव लाइफ का स्‍तर घट गया
मेडि‍सिन वि‍शेषज्ञ डॉ संजय गुजराती के मुताबि‍क पिछले कुछ समय से हमारी एक्‍टि‍व लाइफ का स्‍तर बेहद घट गया और दूसरी चीजों पर निर्भरता बढ़ गई है। जैसे हमें 50 कदम की दूरी पर ही जाना है तो हम वाहन का इस्‍तेमाल करते हैं। अब हमें मोबाइल रिचार्ज करने भी बाहर नहीं जाना पड़ता है। हम सारे काम मोबाइल से ही कर लेते हैं, यहां तक कि आजकल शॉपिंग भी घर बैठे हो जाती है।

ऐसे में हमारी एक्‍टि‍व लाइफ लगभग खत्‍म हो चुकी है। यह कर के हम खुद नई बीमारियां पैदा कर रहे हैं, जबकि हमारे पूर्वजों में वो बीमारियां कभी थी ही नहीं। लेकिन हम अपनी एक्‍टि‍व लाइफ को स्‍तर बढ़ाकर बीमारियों को पोस्‍टपोंड कर सकते हैं या यूं कहें कि उन्‍हें कुछ सालों के लिए आगे बढ़ा सकते हैं।

कैसे ‘पोस्‍टपोंड’ हो सकती है बीमारियां?
अगर हम चाहें तो अपनी बीमारियों के समय को आगे बढ़ा सकते हैं। डॉक्‍टर गुजराती ने बताया कि अच्‍छा और संतुलित खानपान, एक्‍सरसाइज, अच्‍छी नींद, एक्‍ट‍ि‍व लाइफ और तनाव और एन्‍जाइटी को दूर रखकर अपनी बीमारियों को बेहद हद तक आगे बढ़ा सकते हैं या खत्‍म कर सकते हैं।

क्‍या करें अच्‍छी लाइफस्‍टाइल के लि‍ए?
कार्ड‍िएक एक्‍सरसाइज यानि जिसमें दिल और फेफडों का व्‍यायाम हो।
फास्‍टफूड को हमेशा के लिए अलविदा कह दें।
खाने-पीने में प्रोटीन का इस्‍तेमाल करें।
ब्र‍ि‍दिंग एक्‍सरसाइज जैसे अनुलोम विलोम, कपाल भाती आदि।
रात में जागना बंद करें और पूरी नींद लें।
किसी भी चीज का तनाव न लें।
खुश और सकारात्‍मक रहें।



और भी पढ़ें :