अमलतास: 6 बीमारियों से रखें दूर, फूल, पत्ते, तना हर भाग है खास

जब चार दीवार से बाहर निकल नज़र घुमाई जाती है तब हमे बहुत कुछ पता चलता है, ऐसी जानकारियां मिलती है जिसके बीच दिन-रात उठते बैठते हैं लेकिन कुछ जानते नहीं है। प्रकृति हमेशा हमे सबकुछ अच्छा ही देती है। अमलतास के पेड़ का नाम शायद ही सुना होगा लेकिन कभी इस पेड़ नीचे जरूर बैठे होंगे। अमलतास पेड़ का उपयोग औषधि के रूप में किया जाता है। इस पेड़ का हर भाग बीमारी को भगाने में मदद करता है। आइए जानते हैं अमलतास पेड़ से होने वाले शारीरिक लाभ के बारे में।

1.कब्ज से राहत दिलाए - कब्ज की समस्या होने पर सबसे पहले हेल्थ पर असर पड़ता है। कब्ज होने पर लगातार एसिडिटी बनती है, भूख नहीं लगती है, अपच की समस्या रहती है। इसके फूल
के उपयोग से कब्ज से राहत पा सकते हैं। आयुर्वेद में भी इसके फूल का प्रयोग किया जाता है। फूल को रातभर के लिए पानी में भिगों दें। सुबह शक्कर मिलाकर इसका पेस्ट बना लें और खा लें। ऐसा करने पर आपको कब्ज की समस्या में राहत मिलेगी।

2.दाद, खाज, खुजली से परेशान - अगर आप लगातार दाद, खाज, खुजली से परेशान हो गए है, किसी भी प्रकार की दवा से आराम नहीं मिल रहा है तो आप एक बार इस रामबाण दवा का उपयोग जरूर करें। अमलतास की फलियों को पहले अच्छे से पीस लें फिर उसमें थोड़ा सा पानी मिलाकर उसे एकजुट कर लें। और लेप को प्रभावित अंगों पर लगा लें। नियमित लगाने से आपको जल्द ही स्किन संबंधित बीमारी से निजात मिल जाएगी।

3.इम्यूनिटी को करे बूस्ट - अमलतास का पौधा पोषक तत्वों से भरपूर है। यह स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है। इस पेड़ की छाल में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद रहते हैं, जो आपके इम्युन सिस्टम को मजबूत करते हैं। इसके सेवन से संक्रमण होने की संभावना घट जाती है।

4.चेहरे को बनाएं खूबसूरत - अमलतास के फूलों का इस्तेमाल चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने में भी किया जा सकता है। यह किसी फेशियल क्रीम से कम नहीं है। इसके फूलों को सुखाकर बारिक पीस लें। अब एक कटोरी में 1 चम्मच पीसे हुए फूल, 1 चम्मच गुलाब जल डालकर लेप बना लें, 15 मिनट बाद ठंडे पानी से चेहरे को धो लें। सप्ताह में 3 दिन इसका प्रयोग करते रहें। आपका चेहरा एकदम खिल सा जाएगा।


5.फोड़े फुंसियों को भगाएं - गर्मी के मौसम में फोड़े फुंसियों की समस्या आम बात है। लेकिन इससे चेहरा खराब हो जाता है। अमलतास का पौधा आपको इन सबसे निजात दिलाने में मदद करेगा। अमलतास पौधे की छाल को नमी की छाल के साथ पीसकर जहां फुंसी हो रही है वहां पर लगा लें। 15 मिनट बाद धो लें। आपको बहुत जल्द आराम मिल जाएगा।

6. गठिया रोग में दिलाए राहत - आज के वक्त में बीमारी किसी की उम्र देखकर नहीं होती है। कमर दर्द, जोड़ों में दर्द, हड्डियों में सूजन की समस्या हर कोई चैथा या पांचवा व्यक्ति परेशान है। आपको बता दें कि अमलतास के पौधे में मौजूद तत्वों से आपको राहत मिल सकती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है। इसके लिए 15 से 20 पत्तियों का नियमित तौर पर घी में तलकर आप खा सकते हैं। इससे आपको शरीर में हो रहे दर्द में राहत मिलेगी।

नोट: यह एक सामान्य जानकारी है। सेवन करने के पूर्व किसी आयुर्वेद विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें। ताकि सही मात्रा में इसके सेवन से आपको जल्दी लाभ मिल सकें।




और भी पढ़ें :