अमेठी में राहुल का विरोध, प्रियंका भी परेशान

लखनऊ| WD| पुनः संशोधित गुरुवार, 1 मई 2014 (15:06 IST)
FILE
लखनऊ। कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी जहां सारे देश में पार्टी के लिए प्रचार कार्य रहे हैं, लेकिन क्षेत्रीय लोगों को उनकी कमी नहीं खल रही है क्योंकि उनकी छोटी बहन प्रियंका गांधी राहुल के गढ़ में लोगों की नाराजगी का सामना कर रही हैं।

दस वर्षों के बाद अमेठी के लोग उनके प्रति राहुल गांधी की मंशा को लेकर सवाल उठाने लगे हैं। प्रियंका खुद सभाओं को संबोधित कर रही हैं, लेकिन स्थानीय उनकी संख्या में सभाओं में नहीं आ रहे हैं जितनी की पार्टी उम्मीद करती है।

फर्स्टपोस्ट डॉट कॉम ने अपने एक डिस्पैच में लिखा है ‍कि भदार ब्लॉक के पीपारपुर गांव में लोग बहुत अधिक संख्‍या में नहीं पहुंचे। गांव के किसान भूरेलाल का कहना है, 'हम राहुलजी से खुश नहीं हैं। हमें बिजली का वादा किया गया था, लेकिन हम अभी भी इसका इंतजार कर रहे हैं।'
एक 52 वर्षीय किसान ने यूपीए-2 की फ्लैगशिप स्कीम मनरेगा को लेकर सवाल उठाए। उसका कहना था कैसा मनरेगा? हमें कोई काम ही नहीं मिलता है। सरकारी कागजी खानापूर्ति के लिए नाम रजिस्टर में दर्ज किए जाते हैं और पैसा भी बंट जाता है और जो कर्ता-धर्ता लोग हैं वे समझते हैं कि गरीबों की मदद हो रही है।'

ये है प्रियंका की परेशानी का कारण... पढ़ें अगले पेज पर...





और भी पढ़ें :