FIFA WC 2018 : डेसचैम्प्स के लिए 1998 जितनी ही खूबसूरत है विश्व कप जीत

Last Updated: सोमवार, 16 जुलाई 2018 (20:02 IST)
मॉस्को। दिदिएर ने विश्व कप फाइनल में क्रोएशिया पर 4-2 की जीत के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान खिलाड़ियों के जश्न मनाते हुए डांस करने और उन पर ड्रिंक्स उड़ेलने के बाद कहा कि 'खुशी के सागर में गोते लगा रहा' है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलने की शुरुआत करने ही वाले थे कि मॉस्को के में पत्रकारों से खचाखच भरे कमरे में टीम के खिलाड़ी आ गए और इस दौरान डिफेंडर बेंजामिन मेंडी जश्न की अगुआई कर रहे थे, जो बिना शर्ट के डांस कर रहे थे।
डेसचैम्प्स ने इसके बाद खुद को संभालने का प्रयास करते हुए फ्रांस की दूसरी विश्व कप जीत पर अपना नजरिया रखा। वे 1998 में पेरिस में ब्राजील को 3-0 से हराकर खिताब जीतने वाली फ्रांस की टीम के कप्तान भी थे।

उन्होंने कहा कि मेरी कहानी खिलाड़ियों के साथ जुड़ी है। यह बहुत ही सम्मान और खुशी की बात है कि एक खिलाड़ी के रूप में 20 साल पहले मुझे इसका अनुभव करने का मौका मिला और यह फ्रांस में था इसलिए यह हमेशा मेरे साथ रहेगा। डेसचैम्प्स ने कहा कि लेकिन आज इन्होंने जो किया, वह भी उतना ही बड़ा और उतना ही खूबसूरत है।
फ्रांस को मारियो मानजुकिच के आत्मघाती गोल से बढ़त मिली। इवान पेरिसिच ने इसके बाद क्रोएशिया को बराबरी दिलाई लेकिन एंटोनी ग्रिजमैन ने पेनल्टी पर गोल दागकर फ्रांस को आगे कर दिया। पाल पोग्बा और काइलियान एमबापे ने इसके बाद दूसरे हॉफ में गोल दागकर टीम को 4-1 से आगे किया। मानजुकिच हालांकि क्रोएशिया की ओर से 1 और गोल करने में सफल रहे।
डेसचैम्प्स ने कहा कि आज के युवा बच्चों के लिए मेरा 22 साल का 1 बेटा है। हम विश्व चैंपियन थे लेकिन इसे समझने के लिए वे काफी छोटे थे। उन्होंने कहा कि लेकिन अब जो पीढ़ी 10, 15 या 20 बरस की है, उसके पास यह अनुभव, यह खुशी है। हम कल या आगामी दिनों में महसूस करेंगे कि उन्होंने क्या किया है।

डेसचैम्प्स दुनिया के सिर्फ तीसरे व्यक्ति हैं जिन्होंने खिलाड़ी और कोच दोनों के रूप में विश्व कप जीता है। वे ब्राजील के मारियो जगालो और जर्मनी के फ्रेंज बैकेनबायर की सूची में शामिल हो गए हैं। (वार्ता)



और भी पढ़ें :