0

शरद पूर्णिमा पर बनाएं साबूदाने की लजीज फलाहारी खीर

शुक्रवार,अक्टूबर 11, 2019
sabudana-kheer
0
1
इडली बनाने से 1 घंटे पूर्व मोरधन को भिगोकर रखें। तत्पश्चात उसमें आलू, हरी मिर्च व अदरक डालकर मिक्सी में पीस लें। नमक, दही डालकर घोल को 1-2 घंटे धूप में रख दें।
1
2
सबसे पहले शकर में पानी व केसर डालकर एक तार की चाशनी बना लें। आलू को उबालकर छिलके निकालकर मिक्सी में पीस लें।
2
3
सबसे पहले एक कड़ाही में घी डालकर किसी हुई दूधी को हल्का भूनकर अलग रख लें। अब कड़ाही में थोड़ा-सा पानी डालें, फिर चीनी डालें।
3
4
आलू को उबाल कर, छिल कर मैश करें। अब एक कड़ाही में धीमी आंच पर घी गरम करें व इसमें आलू डालें। 5-7 मिनट भूनें और शकर मिलाएं व लगातार
4
4
5
सबसे पहले साबूदाने को धोकर पानी में भिगो दें। थोड़ी देर बाद इसका पानी निथारकर 1-2 घंटे के लिए रख दें। अब मूंगफली को दरदरा पीस लें और आलू को छीलकर मैश करें।
5
6
साबूदाना-पनीर के चटपटे फलाहारी बड़े बनाने से पूर्व साबूदाने को एक कप पानी में 1 घंटे के लिए भिगो दें।
6
7
आलू का चटपटा फलाहारी नमकीन बनाने के लिए सबसे पहले आलुओं को छीलकर मोटा-मोटा कद्दूकस कर (किस) लें।
7
8
सबसे पहले दूध में मेवे की कतरन मिलाकर मिक्सी में महीन पेस्ट तैयार करें।
8
8
9
भीगे हुए साबूदाने को मिक्सर में थोड़े-से पिस लें और आलू को छीलकर हाथ से मसल लें।
9
10
नवरात्रि फलाहार : सबसे पहले साबूदाने को 2-3 बार धोकर पानी में थोड़ी देर रखें, फिर पानी निथारकर 1-2 घंटे के लिए भिगो कर रख दें।
10
11
साबूदाने को रात में गला दें। सुबह दही डालकर मिक्सर में पीसें।
11
12
समा के चावल यानी मोरधन का डोसा बनाने के लिए सबसे पहले मोरधन को साफ करें और धोकर थोड़ी देर (करीब आधा घंटा) पानी में गला दें। अब मिक्सी में पीस लें और घोल बनाएं। तत्पश्चात हरी मिर्च, नमक, मिर्च, हरा धनिया, सौंफ पावडर घोल में डालें तथा अच्छीतरह फेंट ...
12
13
सबसे पहले साबूदाने को गला दें। आलू को उबाल कर छील लें। अब आलू को मसल कर उसमें भीगा हुआ साबूदाना, मोरधन और राजगिरे का आटा, नमक, पिसी अदरक-मिर्च का पेस्ट डालकर आटे की तरह
13
14
खिचड़ी बनाने से 3-4 घंटे पूर्व साबूदाने को भिगो कर रख दें। लौकी को कद्दूकस करें। एक कड़ाही में घी गरम करके उसमें जीरे व हरी मिर्च का छौक लगाएं।
14
15
6 पके हुए केले, 1 नारियल (कद्दूकस किसा हुआ), 100 ग्राम शक्कर, घी 2 चम्मच, 100 ग्राम काजू की कतरन, 1/2 चम्मच इलाइची पाउडर।
15
16
सबसे पहले पनीर को चौकोर टुकड़ों काट लें। सिंघाड़े के आटे में अन्य सारी सामग्री मिलाएं
16
17
फलाहारी कच्चे केले की पकौड़ी बनाने के लिए 200 ग्राम सिंघाड़े का आटा, 4-5 कच्चे केले, 2 हरी मिर्च, सेंधा नमक लें।
17
18
सबसे पहले आलू को मैश करके सिंघाड़े के आटे में मिला लें। बाकी सभी वस्तुएं भी आटे में डालकर अच्छी तरह मिला लें।
18
19
कच्चे केले की नमकीन पूरी श्रावण मास में उपवास के दिनों में काफी फायदेमंद है। इसको खाने से आपको बार-बार भूख नहीं लगेगी।
19