चक्काजाम को लेकर पंजाब और हरियाणा में किसानों ने सड़कें अवरुद्ध कीं

Last Updated: शनिवार, 6 फ़रवरी 2021 (15:55 IST)
चंडीगढ़। किसान यूनियनों द्वारा शनिवार को आहूत राष्ट्रव्यापी के दौरान और हरियाणा में नए केंद्रीय कृषि कानूनों और अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने कई जगह सड़कें कर दीं। किसान यूनियनों ने सोमवार को घोषणा की थी कि प्रदर्शन स्थलों के आसपास के इलाकों में इंटरनेट पर पाबंदी लगाने, अधिकारियों द्वारा कथित रूप से प्रताड़ित किए जाने और अन्य मुद्दों को लेकर वे 6 फरवरी दोपहर 12 से 3 बजे तक देशव्यापी चक्काजाम के दौरान विरोधस्वरूप राष्ट्रीय और राजकीय राजमार्ग अवरुद्ध करेंगे।
ALSO READ:

किसानों का चक्काजाम, दिल्ली में मेट्रो सेेवाओं पर पड़ा असर, 10 स्टेशनों के दोनों गेट बंद
अधिकारियों ने कहा कि पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है और यातायात का मार्ग बदलने के लिए सभी प्रबंध कर लिए हैं। विभिन्न किसान निकायों से जुड़े प्रदर्शनकारी किसानों ने शनिवार को विभिन्न स्थानों पर राजकीय और राष्ट्रीय राजमार्गों को अवरुद्ध कर दिया जिसके कारण यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ा।
भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्रहां) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरिकलां ने कहा कि वे पंजाब के संगरूर, बरनाला और बठिंडा समेत 15 जिलों के 33 स्थानों पर सड़कें अवरुद्ध कर रहे हैं। इससे पहले सुबह के समय किसानों ने दोनों राज्यों में चक्काजाम के लिए प्रदर्शन स्थलों पर एकत्रित होना शुरू कर दिया। अंबाला के निकट शंभू में पंजाब-हरियाणा सीमा पर एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि बुजुर्ग और युवा चक्काजाम में हिस्सा लेने के लिए यहां एकत्रित हुए हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :