आंदोलनकारी किसानों ने मनाया युवा किसान दिवस, खाई यह बड़ी कसम

Last Updated: शनिवार, 27 फ़रवरी 2021 (08:52 IST)
नई दिल्ली। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसान यूनियनों के एक संयुक्त संगठन 'संयुक्त किसान मोर्चा' (एसकेएम) ने शुक्रवार को सिंघू, गाजीपुर और टीकरी सीमा बिदुओं पर विरोध प्रदर्शन स्थलों पर 'युवा किसान दिवस' मनाया।
एसकेएम ने एक बयान में कहा कि विरोध स्थलों पर बनाए गए मंचों का संचालन युवाओं ने किया, उन्होंने आंदोलन को सफल बनाने और यह कसम खाई कि वे उनमें हुए बलिदान को 'बेकार' नहीं जाने देंगे। प्रदर्शनकारी किसानों ने 18 वर्षीय नवजोत सिंह को भी श्रद्धांजलि दी, जिसकी शुक्रवार को सिंघू बॉर्डर पर मौत हो गई।
बयान में कहा गया है कि युवाओं ने 'बढ़ती बेरोजगारी और शिक्षा के बढ़ते निजीकरण' पर जोर दिया और सरकार पर उन्हें कृषि और गांवों से विस्थापित करने वाली नीति लाने का आरोप लगाया। एसकेएम ने नवदीप कौर को जमानत देने के पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत किया और कहा कि उन्होंने 'किसान-मजदूर' एकता के लिए संघर्ष किया।



और भी पढ़ें :