10 करोड़ यूजर, अमिताभ से लेकर सलमान तक कर रहे हैं ब्रांडिंग, जानिए कैसे बढ़ा क्रिप्टोकरेंसी का बाजार...

Last Updated: मंगलवार, 19 अक्टूबर 2021 (16:13 IST)
हमें फॉलो करें
नईदिल्ली। देश में क्रिप्टो करेंसी को लेकर क्रेज तेजी से बढ़ रहा है। अमिताभ बच्चन कॉइन DCX के ब्रांड एंबेसडर बन गए हैं तो रणबीर सिंह कॉइन स्विच के लिए प्रचार कर रहे हैं। सलमान खान ने भी गारी नामक एक क्रिप्टो टोकन लांच किया है। भारत में करीब 10 करोड़ लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया है। आइए जानते हैं कैसे बढ़ा क्रिप्टो करेंसी का बाजार...

11 हजार क्रिप्टोकरेंसी : ग्लोबल क्रिप्टोकरेंसी मार्केट की कुल वैल्यू अभी 2 ट्रिलियन डॉलर के आसपास है। बाजार में 11,000 क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग हो रही है। डिसेंट्रलाइज्ड करेंसी होने की वजह से इस पर किसी भी सरकार या संस्था का नियंत्रण नहीं है। ऐसे में इसमें बहुत तेजी से उतार चढ़ाव हो रहा है।

भारत में क्यों बढ़ रहा है क्रिप्टो का बाजार : भारतीय निवेशकों में क्रिप्टकरेंसी अब नया नाम नहीं है। इस डिजिटल करेंसी के प्रति लोगों की उत्सुकता लगातार बनी हुई है। अमिताभ, सलमान, ‍रणबीर सिंह समेत कई दिग्गजों का नाम से जुड़ने के बाद भारत में इसकी लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है। तमाम बड़ी वेबसाइट्स पर क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े विज्ञापनों की भरमार है। सरकार द्वारा मान्यता नहीं मिलने के बाद भी लोग इसमें तेजी से निवेश कर रहे हैं।
दुनिया की 8वीं सबसे वैल्यु‍एबल एसेट : 12 साल पहले बिटकॉइन की कीमत 6 पैसे थी, अब यह बढ़कर 46 लाख रुपए के पार हो गई। 8 मार्केट कैप डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, बिटकॉइन दुनिया की टॉप 10 वैल्यूएबल एसेट की लिस्ट में 8वें नंबर पर है। इसकी मार्केट वैल्यू 87 लाख करोड़ रुपए हैं। यह अपने ऑल टाइम हाई से मात्र 2,000 डॉलर पीछे हैं।

अगर टॉप 5 क्रिप्टोकरेंसी की बात की जाए तो बिटकॉइन अभी क्रिप्टो की दुनिया में नंबर 1 पर है। फिलहाल 1 बिटकॉइन की कीमत 46,70,791 रुपए है। इसके बाद इथेरियम का नंबर है। 1 इथेरियम का मूल्य 2,84,689 रुपए है। इसकी मार्केट कैप 33.4 लाख रुपए हैं। इसके बाद कारडानो, टिथर और रिपल का नंबर है। इनकी कीमत क्रमश: 174.62, 77.96 और 91.29 रुपए है। इन तीनों की मार्केट वैल्यू क्रमश: 5.3 लाख करोड़, 5.1 लाख करोड़ और 3.9 लाख करोड़ रुपए है।

भारत सरकार का रवैया : सरकार ने बजट से पहले क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगाने वाला एक प्रस्ताव पेश किया था। इस मामले में एक समिति भी गठित की गई थी। इस मामले में सरकार के तेवर अब कुछ नरम पड़ते दिखाई दे रहे हैं। इस बीच रिजर्व बैंक के प्रमुख शक्तिकांत दास से लेकर संघ प्रमुख मोहन भागवत तक कई दिग्गज क्रिप्टो करेंसी पर चिंता जता चुके हैं।



और भी पढ़ें :