क्यों जरूरी हैं महेंद्रसिंह धोनी भारतीय टीम के लिए, 5 कारण

पुनः संशोधित शनिवार, 29 जून 2019 (17:21 IST)
बर्मिंघम। विश्वकप में टीम इंडिया का विजयी अभियान लगातार जारी है। पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका जैसी टीमों को धूल चटाकर भारत एक बार फिर सेमीफाइनल की ओर अपने कदम तेजी से बढ़ा रहा है। हालांकि अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज जैसी कमजोर टीमों के खिलाफ मध्यमक्रम के बल्लेबाजों के नहीं चलने से टीम के सबसे अनुभवी खिलाड़ी और विकेट कीपर बल्लेबाज महेंद्रसिंह धोनी पर भी सवाल उठे थे, लेकिन धोनी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन कर बल्ले से आलोचकों को जवाब दे दिया।

कप्तान विराट कोहली ने भी धोनी की खुलकर तारीफ की थी और टीम के लिए उन्हें भरोसेमंद और उपयोगी बताया था। आइए, इन 5 कारणों से जानते हैं कि टीम इंडिया के लिए धोनी क्यों जरूरी हैं...

लंबा अनुभव : टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्रसिंह धोनी का लंबा अनुभव ही उनके लिए सबसे बड़ी पूंजी है। अपने इस अनुभव का इस्तेमाल वह बेहतर ढंग से करते हैं और साथी खिलाड़ी भी इसका पूरा लाभ उठाते हैं। कई बार बल्लेबाजों को उनके द्वारा दिए गए टिप्स मैच का रुख ही बदल देते हैं।

सबसे सफल मैच फिनिशर : धोनी इस समय दुनिया के सबसे बेहतर मैच फिनिशर कहे जाते हैं। वह हर परिस्थिति में टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाने की क्षमता रखते हैं। वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो शुरू में मैदान में सेट होने में टाइम लेते हैं और फिर अपने दमदार खेल से न सिर्फ तेजी से रन बनाते हैं बल्कि दर्शकों का भरपूर मनोरंजन भी करते हैं।

कप्तान का सबसे बड़ा सहारा : एमएस धोनी मुश्किल समय में कप्तान कोहली का सबसे बड़ा सहारा हैं। उनके पास कप्तान के हर सवाल का जवाब है। उन्हें टीम में मौजूद हर खिलाड़ी की कमजोरी और खूबी के बारे में पता है। कई बार तो ऐसा प्रतीत होता है कि मानो मैच में कप्तानी कोहली नहीं बल्कि धोनी ही कर रहे हैं।

अच्छे विकेटकीपर : निर्विवाद रूप से विकेटकीपर के रूप में धोनी ने अपनी चपलता और चतुरता से क्रिकेटप्रेमियों का दिल जीत लिया है। उनकी फुर्ती से कई दिग्गज बल्लेबाज भी हैरान रह जाते हैं। विकेटकीपर के रूप में उनकी मौजूदगी भर से बल्लेबाज गेंदबाजों के खिलाफ आगे बढ़कर शॉट मारने से डरते हैं।
बेहतर समन्वय : वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो सभी खिलाड़ियों से समन्वय रखते हैं। गेंदबाजों के साथ तो उनका तालमेल कमाल का है ही, क्षेत्ररक्षकों से भी वह इशारों में बात करते दिखाई देते हैं। वह बल्लेबाज के मूवमेंट को पढ़ लेते हैं गेंदबाजों को बताते हैं कि गेंद कहां डालनी है।





और भी पढ़ें :