मध्यप्रदेश में पहले चरण में 4.16 लाख हेल्थ कोरोना वॉरियर्स का होगा वैक्सीनेशन, पहली खेप में आएंगे कोविशील्ड वैक्सीन के 5 लाख डोज

Author विकास सिंह| Last Updated: मंगलवार, 12 जनवरी 2021 (08:44 IST)
भोपाल।16 जनवरी से शुरू होने वाले के टीकाकरण को लेकर में तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। मध्यप्रदेश में वैक्सीनेशन के पहले चरण में चार लाख 16 हजार हेल्थ वर्कर्स ‌का टीकाकरण किया‌ जाएगा। पहले चरण में प्रदेश में 16 जनवरी को 302 स्वास्थ्य केंद्रों पर कोरोना टीकाकरण प्रारंभ होगा। प्रथम चरण में कोरोना वारियर्स एवं फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीके लगाए जाएंगे, जिनकी संख्या लगभग 4 लाख 16 हजार है। पहले चरण के वैक्सीनेशन के लिए कोविशील्ड वैक्सीन के पांच लाख डोज मध्यप्रदेश मंगाए गए है।
ALSO READ:
सीरम इंस्टीट्यूट से रवाना हुई कोविशिल्ड की पहली खेप, 3 दिन बाद शुरू होगा सबसे बड़ा 'टीकाकरण' अभियान
1149 बूथों पर होगा वैक्सीनेशन-मध्यप्रदेश ‌में के लिए‌ जिला अस्पताल,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, नागरिक अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, तथा चयनित निजी संस्थानों में टीकाकरण का कार्य किया जाएगा। वैक्सीनेशन के लिए कुल 1149 टीकाकरण केंद्र ‌बनाने के साथ इतने ही दल बनाए गए हैं। प्रत्येक दल में 4 वैक्सीनेशन ऑफिसर रहेंगे, जिनमें 2 एएनएम एक आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा एक आशा कार्यकर्ता होगी।
वैक्सीनेशन के बाद डिजिटिल सर्टिफिकेट–कोरोना वैक्सीनेशन की मॉनीटरिंग के लिए 'कोविन' डिजिटल प्लेटफार्म बनाया गया है। पहला डोज लगते ही टीका लगवाने वाले को एक डिजिटल प्रमाण-पत्र दिया जाएगा, जिसमें अगले डोज की तिथि अंकित होगी। दूसरा डोज लगने के बाद व्यक्ति को फाइनल सर्टिफिकेट मिलेगा। 'कोविन' पर टीकाकरण की 'रीअल टाइम' एंट्री होगी।
ALSO READ:कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मंजूरी मिलने के बाद वैक्सीनेशन से जुड़े आपके 10 सवाल
कोरोना वैक्सीन के भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर में राज्य स्तर के स्टोर्स बनाए गए हैं, जहां वैक्सीन प्राप्त करने की पूरी तैयारी कर ली गई है। वैक्सीन प्राप्त होने के 24 घंटे के भीतर सभी जिला टीका केंद्रों में उसे ले जाने की व्यवस्था भी कर ली गई है।
कोरोना टीकाकरण के लिए राजधानी भोपाल में राज्य नियंत्रण कक्ष और कमांड सेंटर की स्थापना की गई है। साथ ही हर जिले तथा ब्लॉक स्तर पर भी कार्य की निगरानी के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित किए जा रहे हैं।16 जनवरी को वैक्सीनेशन के लॉन्च के अवसर पर जेपी अस्पताल भोपाल और एमजीएम मेडिकल कॉलेज इंदौर में इवेंट की वेबकास्टिंग के लिए विशेष टू वे कम्युनिकेशन सिस्टम होगा।
भोपाल में 80 स्थानों पर वैक्सीनेशन - राजधानी भोपाल में पहले चरण में अस्पतालों में बनाए गए 80 जगहों पर वैक्सीनेशन किया जाएगा। इन सभी वैक्सीन सेंटर पर 126 सेशन प्रस्तावित किए गए है। जिसमे 30 हजार स्वास्थ कर्मियो का वैक्सीनेशन होगा। यह प्रक्रिया 3 से 5 दिन मे पूरी होगी। भोपाल सीएमएचओ डॉ प्रभाकर तिवारी के मुताबिक पहले चरण के वैक्सीनेशन के लिए सभी स्वास्थ कर्मियों का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है। वैक्सीन का कोल्ड स्टोरेज जेपी हॉस्पिटल में किया जाएगा। यही से सभी 80 चिन्हित जगहों पर वैक्सीन भेजी जाएगी। शासकीय अस्पतालों के साथ ही निजी चिकित्सालय, एम्स, और रेलवे के अस्पतालों में वैक्सिन लगाई जायेगी।
वैक्सीनेशन के लिए सभी स्वास्थ कर्मियो को एसएमएस किए जायेंगे। इसके लिए स्मार्ट सिटी में कंट्रोल रूम स्थापित किया जाएगा। सभी जगह एक साथ इस प्रक्रिया को एक साथ शुरू किया जाएगा एक दिन में 8 से 10 हजार लोगो का वैक्सीन लगाए जाने की तैयारी की गई है।

वैक्सीन का परिवहन आइस बॉक्स के जरिए होगा सभी स्वास्थ कर्मियो के बाद फ्रंट लाइन वर्कर और उसके बाद दूसरे लोगो को वैक्सीन लगाई जायेगी। एक सेंटर पर लगभग 100 लोगो को वैक्सीन लगाई जायेगी। फर्स्ट फेस वैक्सीनेशन में अवकाश और दूसरे टीकाकरण के दिन वैक्सीन नहीं लगाई जायेगी। 16,18,20 और 23 को वैक्सीन के फर्स्ट फेस को सम्पन्न किया जाएगा।




और भी पढ़ें :