Corona U-tern: एक बार फि‍र ‘वायरस के रडार’ पर महाराष्‍ट्र का ‘नागपुर’

corona in nagpur
  • एनएमसी और हेल्‍थ प्रशासन ने नागपुर जिले के लिए जारी की नई गाइडलाइन
  • स्‍कूल, कॉलेज, बाजार, शादी समारोह के लिए पूरे जिले में बनाए सख्‍त नियम
  • एक दिन में 8 सेंटरों पर की गई 6 हजार 335 लोगों में से 626 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए
  • नागपुर के लिए फरवरी सबसे संक्रमित महीना
कोरोना वायरस के दूसरे अटैक में महाराष्‍ट्र का नागपुर एक बार फि‍र से रडार पर आ गया है। यहां प्रशासन ने सुरक्षा के ताबड़तोड़ बंदोबस्‍त शुरू कर दिए हैं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के साथ ही नागपुर म्‍युनिसिपल कॉपोर्रेशन एनएमसी ने कोरोना के लिए नए सर्कुलर जारी किए हैं।
प्रशासन ने स्‍कूल, कॉलेज, होटल, रेस्‍टोरेंट, शादी समारोह, अंतिम संस्‍कार, सिनेमा हॉल, मॉल्‍स और सामान्‍य से लेकर साप्‍ताहिक लगने वाले बाजारों आदि के लिए सख्‍त गाइडलाइन तैयार की गई है।

हालांकि नागपुर या जिले के किसी भी शहर और क्षेत्र में अभी लॉकडाउन के लिए नहीं कहा गया है, लेकिन आवागमन पर नजर के साथ ही कहीं भीड़ लगाना, मास्‍क, सेनेटाइजर और सोशल डि‍स्‍टेंस की अनदेखी करने पर कार्रवाई की जाएगी।

एक सप्‍ताह में बढ़ी रफ्तार
पिछले एक सप्‍ताह में नागपुर जिले में तेजी से संक्रमण बढ़ा है। एक सप्‍ताह में 4207 नए संक्रमित मिले जबकि उसके पहले के सप्‍ताह यानि 7 से 13 फरवरी के बीच 2663 संक्रमित मिले थे। जाहिर है संक्रमण की रफ्तार बढ़ गई है।

वैक्‍सीनेशन के 5 दिन बाद 5 डॉक्‍टर हुए पॉजिटि‍व
चिंता वाली बात यह है कि वैक्‍सीनेशन के करीब 5 दिन बाद नागपुर के 3 बड़े अस्‍पतालों के 5 डॉक्‍टर्स जांच के बाद कोरोनो पॉजिटि‍व पाए गए हैं। यह 5 डॉक्‍टर नागपुर के मेयो अस्‍पताल, मेडि‍कल हॉस्‍पिटल और डेंटल कॉलेज के हैं। हालांकि इसके पीछे विशेषज्ञों का तर्क है कि वैक्‍सीन लगाने के कुछ दिनों बाद और यहां तक कि दूसरा डोज लेने के बाद ही इम्‍युनिटी विकसि‍त होती है। ऐसे में वैक्‍सीन को दोष देना ठीक नहीं।
corona in nagpur" />

क्‍या है नागपुर की कोरोना गाइडलाइन?
  • 7 मार्च तक नागपुर जिले के सभी स्‍कूल और कॉलेज बंद करने के आदेश जारी किए गए हैं।
  • इसी के साथ विकली मार्केट यानि साप्‍ताहिक बाजार बंद रहेंगे।
  • शादी समारोह के लिए सभागृह, लॉन आदि 25 फरवरी से लेकर 7 मार्च तक बंद रहेंगे।
  • होटल और रेस्‍टोरेंट सिर्फ रात 9 बजे तक खुल रह सकेंगे।
  • 20 से ज्‍यादा लोग अंतिम संस्‍कार में शामिल नहीं हो सकेंगे।
  • इमारत में 5 से ज्‍यादा लोग पॉजिटि‍व मिलने पर एरिया सील किया जाएगा।
  • गली में 20 से ज्‍यादा मरीजों पर वहां सील किया जाएगा।
  • अगले आदेश तक शनिवार और रविवार के दिन बाजार भी बंद रहेंगे।
  • अभी लॉकडाउन नहीं लगेगा, लेकिन पूरे जिले में सख्‍त अनुशासन लागू किया जाएगा।
  • मास्क पहनना, सॅनेटाइजर वापरना, सामाजिक दूरी आवश्यक
  • क्वारंटाइन मरीज घर से बाहर न निकलें, हाथ पर स्टॅम्प लगाए
  • हॉटेल्स, रेस्टांरंट, उपहारगृह 50 प्रतिशत क्षमता के साथ परमिशन
क्‍या है व्‍यवस्‍था?
नागपुर में कोरोना वायरस की जांच के लिए कुल 8 सेंटर्स बनाए गए हैं। जिनमें सस्‍पेक्‍टेड मरीजों की जांच की जा रही है। 20 फरवरी से लेकर 21 फरवरी के बीच इन सेंटर्स में 6 हजार 335 लोगों की जांच की गई, जिसमें से 626 लोगों कोरोना से संक्रमित पाए गए, जबकि 5 हजार 709 लोग नेगेटिव निकले। पूरे नागपुर में 51 अस्‍पताल और नर्सिंग होम आदि में कोरोना मरीजों के इलाज की व्‍यवस्‍था है।

क्‍या कहा एनएमसी कमिश्‍नर ने?
नागपुर एनएमसी कमिश्‍नर राधाकृष्‍णन बी ने वेबदुनिया को बताया कि जैसे ही हालात बि‍गड़ने लगे हमने पूरे जिले के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है। फि‍लहाल लॉकडाउन की स्‍थि‍ति तो नहीं है, लेकिन रोजमर्रा गतिविधि‍ में सख्‍ती बरती जाएगी। संक्रमण के कुछ केस बढ़े हैं, लेकिन मौते पिछले महीने की तुलना में कम है, हम स्‍थि‍ति को नियंत्र‍ित कर लेंगे।



और भी पढ़ें :