कॉफी कथा

WD|
कॉफी बीन कॉफी के पेड़ का बीज होता है । कॉफी विश्र्व में दूसरी सबसे बड़ी खरीदी बेचे जाने वाली वस्तु है और इसका केवल खुदरा व्यापार ही 70 बिलियन यूएस डॉलर का है।

कॉफी का घर इथोपिया में है, जहाँ कॉफी के पेड़ का संभवत: काफां प्रदेश में सर्वप्रथम उद्भव हुआ था। एक कहानी है कि एक इथोपियाई गड़रिया अपनी बकरियों द्ववारा लाल कॉफी बेरीज खाने के बाद उनके फुरतीले व्यवहार से आश्चर्यचकित हुआ था। यह बात हमें ज्यादा निश्चितता से पता है कि चेरी के रसीले भाग को सूडान से यमन और अरब लाए गए गुलाम खाया करते थे। इन गुलामों को आज के प्रसिद्घ बंदरगाह मोचा होकर लाया जाता था और इसी मोचा कॉफी का एक पर्याय माना जाता है।

पहले कॉफी हाउस मक्का में खुले और उन्हें 'कावेह कानेस' कहा जाता था। बाद में वे पूरे अरब जगत में फैल गए और ऐसे सफल स्थान बन गए जहाँ शतरंज खेला जाता था, नाच, गाना व संगीत होता था व समूह में गप्पें होती थीं । वे बहुत ही ऐश्र्वर्यपूर्ण तरीके से सजाए जाते थे और सबकी अपनी व्यक्तिगत विशेषताएँ होती थी। कॉफी हाउस जैसा स्थान पहले कहीं नहीं था, जहाँ आरामदायक परिवेश में समाज और व्यवसाय की बातें आराम से की जा सकती थीं और जहाँ कोई भी कॉफी पीने के खर्च पर जा सकता था।
फिर तो कॉफी का प्रसार डच, ब्रिटिश और फ्रैंच उपनिवेशकों द्वारा अन्य स्थानों पर हुआ । पहला यूरोपियन कॉफी हाउस वेनिस में 1683 में भी खुला था व सबसे प्रसिद्घ कैफे फ्लोरियन 1720 में पियाजा सान मारको में खुला था। यह आज भी व्यवसाय के लिए खुला है।

विश्र्व के सबसे बड़े बीमा व्यवसाय बाजार, ल्योड्स ऑफ लंडन, की जीवन यात्रा कॉफी हाउस से ही शुरू हुई थी। वह 1688 में एडवर्ड ल्योड दवारा बनाया गया था जिन्होंने जहाजों की सूचियाँ बनाई थी जिनका उसके ग्राहकों ने बीमा कराया था । संदर्भ मिलते हैं कि कॉफी का उपयोग सबसे पहले उत्तरी अमेरिका में 1668 में किया गया था।
1773 की बोस्टन चाय पार्टी की योजना ग्रीन ड्रैगन नाम के एक कॉफी हाउस में की गयी थी। न्यूयार्क स्टॉक एक्चेंज और बैंक ऑफ न्यूयार्क दानों ही कॉफी हाउस में शुरू हुए थे। यह स्थान आज एक वित्तीय केंद्र है और वॉल स्ट्रीट के नाम से जाना जाता है।

1720 में अमेरिका में पहली बार कॉफी की खेती हुई थी, जिसे कॉफी इतिहास की सबसे खूबसूरत और रोमांटिक कहानी कहा जा सकता है। कॉफी उत्पादन करने वाले 60 विभिन्न देशों में अधिकांश विकासशील देश हैं जबकि कॉफी का उपभोग यूरोप, यूएस और जापान जैसे विकसित देशें में अधिक होता है ।
संयुक्त राज्य कॉफी का सबसे बड़ा उपभोक्ता देश है जबकि ब्राजील कॉफी का सबसे बड़ा उत्पादक देश है और भारत शीर्ष के 6 कॉफी उत्पादक देशों में से एक है।



और भी पढ़ें :