नो टाइम टू डाय से लेकर डॉक्टर नो तक : जानिए 60 वर्षों में बनीं 25 जेम्स बॉन्ड सीरिज की सभी फिल्मों के बारे में

नो टाइम टू डाय जेम्स बांड सीरिज की 25 वीं फिल्म है। 1962 में बनी डॉक्टर नो से शुरुआत हुई थी। इतने सालों के बाद भी जेम्स बॉन्ड की लोकप्रियता में रत्ती भर भी कमी नहीं आई है।

6) ऑन हर मैजिस्टीज सीक्रेट सर्विस (1969) 
सीरिज की छठी फिल्म के पहले ही शॉन कॉनरी ने रिटायरमेंट का फैसला कर लिया था। इसी नाम के के उपन्यास पर आधारित इस फिल्म में एक नए अभिनेता और मॉडल जार्ज लैजनबाय को बांड की भूमिका निभाने का मौका मिला। फिल्म की शूटिंग के दौरान ही उन्होंने फैसला कर लिया था कि वह केवल एक बार ही बांड बनेंगे। फिल्म में बांड का सामना ब्लोफोल्ड से होता है जो विश्व की फूड सप्लाय को स्टरलाइज करने की धमकी देता है मगर उसकी मांग नहीं मानी जाती है। वह अपने गुनाहों के लिए अंतराष्ट्रीय माफी चाहता है, उसके टाइटल 'द काउंट दे ब्लेउचैंम्प' की मान्यता और आजादी से वह रहना चाहता है। यह एक अच्छी फिल्म साबित हुई परंतु पुरानी बांड फिल्मों की सफलता कायम न रख सकी। नए बांड के अभिनय पर भी राय में भिन्नता रही। 
 
7) डायमंड्स आर फॉरएवर (1971)
डायमंड्स आर फॉरएवर बांड सीरिज की सातवीं फिल्म थी और इसमें शॉन कॉनरी आखिरी बार बांड के रूप में नजर आएं। यह फिल्म भी इयान फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित थी जिसमें बांड एक डायमंड स्मगलर का रूप धरता है ताकि स्मगलिंग के रैकेट को खत्म किया जा सके। जल्दी ही बांड को पता चलता है कि उसका पुराना शत्रु अरनेस्ट स्टार्वो इन हीरो के इस्तेमाल से एक विशाल लेजर बना रहा है। बांड की इस फिल्म में अपने शत्रु से लड़ाई होती है जिसके बाद वह स्मगलिंग के इस रैकेट को खत्म कर वाशिंगटन डीसी पर खतरे का खात्मा कर देता है। यह फिल्म भी सफल रही परंतु इसे समीक्षकों से नकारात्मक रिव्यू मिले।
 
8) लिव एंड लेट डाय (1973)
लिव एंड लेट डाय जेम्स बांड सीरिज की आठवीं फिल्म थी। इसमें रोजर मूर ने सीन कॉनेरी की जगह ले ली थी हालांकि निर्माता सीन कॉनेरी को ही जेम्स बांड के किरदार में देखना चाहते थे। इयान फ्लेमिंग के ही उपन्यास पर बनी इस फिल्म में हार्लेम में रहने वाला ड्रग माफिया, जिसे मिस्टर बिग के नाम से जाना जाता था, दो टन हेरोइन मुफ्त में बांटने की योजना बनाता है जिससे इस बिजनेस में दूसरे माफिया बाजार से बाहर हो जाएं। फिल्म में इस माफिया को खत्म करने के मिशन पर बांड गैंगस्टर और वूडू जादू के चक्कर में फंस जाता है और कानांगा पहुंच जाता है जहां उसे तीन अन्य ब्रिटिश एजेंटों की मौत के पीछे के राज का भी पर्दा फाश करना है। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर जादू बिखेरने में कामयाब रही और एकेडमी अवॉर्ड के लिए नामांकित भी की गई।
 
9) द मैन विद द गोल्डन गन (1974)
द मैन विद द गोल्डन गन जैम्स बांड सीरिज की नौंवी फिल्म थी और रोजर मूर की जेम्स बांड के तौर पर दूसरी। यह फिल्म पूरी तरह से इयान फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित नहीं थी। इस फिल्म में बांड को सोलेक्स एगिटेटर (एक डिवाइस जो सूर्य की शक्ति को नियंत्रित कर इस्तेमाल कर सकता है) के लिए भेजा जाता है। इस मिशन पर बांड का सामना निर्मम हत्यारे फ्रांसिस्को कारामंगा से होता है जिसे 'द मैन विद द गोल्डन गन' के नाम से जाना जाता है। फिल्म को मिक्स रिव्यू मिले जहां विलेन के रूप मे क्रिस्टोफर ली का काम पसंद किया गया वहीं फिल्म को कम पसंद किया गया। इसे बांड सीरिज की सबसे खराब फिल्म कहा गया। फिल्म फायदे का सौदा साबित हुई और दर्शकों द्वारा पसंद की गई। यह बांड सीरिज की सबसे कम कमाई करने वाली चार फिल्मों में से एक बनी।
 
10) स्पाय हू लव्ड मी (1977)
स्पाय हू लव्ड मी बांड सीरिज की दसवी फिल्म थी जिसमें एक बार फिर रोजर मूर बांड की भूमिका में नजर आए। फिल्म का सिर्फ टाइटल फ्लेमिंग के उपन्यास पर आधारित था। फिल्म में बांड का सामना पॉवर के लिए पागल कार्ल स्टोर्मबर्ग के साथ होता है जो दुनिया को तबाह कर समुद्र के नीचे एक नई दुनिया बसाने की फिराक में है। फिल्म को समीक्षकों द्वारा भी बहुत पसंद किया गया और फिल्म को तीन एकेडमी अवार्ड के लिए नामांकित किया गया। फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी सफल रही।



और भी पढ़ें :