0

कैपिटल हिल हिंसा: उन पुलिसवालों की दास्तां जिन्होंने जान की बाज़ी लगा दी

सोमवार,जनवरी 18, 2021
0
1
कोविड-19 को लेकर भारत सरकार का बड़ा वैक्सीनेशन अभियान 16 जनवरी से शुरू हो रहा है। सरकार की योजना इस अभियान में 30 करोड़ से ज़्यादा लोगों को कोविड-19 की वैक्सीन देने की है।
1
2
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चार सालों तक अमेरिकी सियासत में छाये रहे। उनके सामने कोई न टिक सका और वो सुर्ख़ियों में बने रहे। लेकिन बुधवार को अमेरिकी हाउस ऑफ़ रिप्रेज़ेंटेटिव्स द्वारा महाभियोग किये जाने के बाद वाशिंगटन के पत्रकार कहते हैं कि व्हाइट हाउस ...
2
3
सिडनी टेस्ट मैच में इतना सब कुछ हुआ कि उसके बाद अब भारतीय टीम का जो हाल है वह किसी रोमांचक फ़िल्म से कम नहीं है, जिसमें दर्शक आख़िरी सीन तक अपनी सीट से चिपक कर बैठे रहते हैं।
3
4
पाकिस्तान में दिसंबर में एक हिंदू संत की एक सदी पुरानी समाधि को मुसलमानों की दंगाई भीड़ ने तहस-नहस कर दिया था। इस पवित्र स्थल पर ऐसा दूसरी बार हुआ है। पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने देश के उत्तर-पश्चिम में स्थित करक ज़िले के अधिकारियों को आदेश ...
4
4
5
उसने काली रंग की पैंट, काली जैकेट, काले जूते और हाथों में सफ़ेद दस्ताने पहन रखे थे। उसके हाथों में मोबाइल फ़ोन था। उसमें फ्रंट कैमरा था। उसे अपनी सेल्फ़ी लेने का शौक था। उसने अपने फ़ेसबुक पेज पर ऐसी कई सेल्फ़ी लगा रखी थी।
5
6
वॉशिंगटन में जिस तरह की घटनाएं पिछले दिनों देखने को मिली हैं उससे काफी लोग सकते में हैं। लेकिन अति दक्षिणपंथी समूह और षड्यंत्रकारियों की ऑनलाइन गतिविधियों पर नज़र रखने वाले लोगों को ऐसे संकट का अंदाज़ा पहले से था। अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए जिस ...
6
7
1996 में माइकल जैक्सन का मुंबई में एक शो हुआ था। दर्शकों के खचाखच भीड़ के बीच आयोजित यह माइकल जैक्सन का भारत में इकलौता शो रहा।
7
8
“इफ़ यू आर नॉट पेइंग फ़ॉर द प्रोडक्ट, यू आर द प्रोडक्ट।’’ यानी अगर आप किसी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करने के लिए पैसे नहीं चुका रहे हैं, तो आप ही वो प्रोडक्ट हैं।
8
8
9
केंद्र सरकार के साथ आठवें दौर की बातचीत से एक दिन पहले किसान अपना आंदोलन तेज़ करने की तैयारी करते दिखे। उनकी मांग है कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले।
9
10
भारत में निवर्तमान अमेरिकी राजदूत केनेथ जस्टर ने हाल ही में भारत और अमेरिका के बीच घनिष्ठ सहयोग की बात दोहराई है। लेकिन उन्होंने भारत में 'आत्मनिर्भरता' पर ज़्यादा ज़ोर और रूस के साथ सैन्य सहयोग पर भी अप्रत्यक्ष रूप से चिंता जताई है।
10
11
यूएस कैपिटल बिल्डिंग में हुई हिंसा के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप हमला करने वालों को देशभक्त कहकर निशाने पर आ गईं। उनके एक ट्वीट की इतनी आलोचना हुई कि उन्हें उसे डिलीट करना पड़ा और उस पर सफ़ाई देनी पड़ी।
11
12
अमेरिका के उत्तरी कैरोलिना में सूअर पालने वाले एक किसान विलियम थॉमस बटलर ने 1995 में एक मीट प्रोसेसिंग कंपनी के साथ अनुबंध किया था। सौदे में लिखी शर्तों पर वो कहते हैं कि, 'हम जिनसे अनुबंध करते हैं, उन पर कम या ज़्यादा यक़ीन ज़रूर करते हैं।'
12
13
टेस्ला के शेयर्स की बढ़ती क़ीमतों की वजह से साल 2020 में कई लोग करोड़पती बने हैं। इन्होंने ख़ुद को करोड़पति (मिलेनियर) या अरबपति (बिलेनियर) नहीं, बल्कि टेस्लानियर कहना शुरू किया है।
13
14
सैमुअल लिटिल की 80 साल की उम्र में मौत हो गई है। सैमुअल को एफ़बीआई ने अमेरिका के इतिहास का 'सबसे ख़तरनाक' सीरियल किलर माना था। सुधार और पुनर्वास विभाग के मुताबिक़ सैमुअल ने बुधवार को कैलीफोर्निया के एक अस्पताल में आख़िरी सांस ली। वो 3 महिलाओं की ...
14
15
चीनी 'कारोबारी मुग़ल' जैक मा के लिए 2020 का आख़िरी दौर अच्छा साबित नहीं हुआ। अलीबाबा के को-फाउंडर जैक मा को अक्टूबर के अंत से करीब 11 अरब डॉलर का झटका लगा है। भारतीय मुद्रा में ये रकम 80 हज़ार करोड़ रुपए से भी ज़्यादा है। ऐसा अधिकारियों के उनकी ...
15
16
मोदी सरकार के नये कृषि क़ानूनों की मुख़ालफ़त कर रहे हरियाणा-पंजाब के किसानों को नये साल से बहुत उम्मीदें हैं। किसानों को प्रदर्शन करते हुए महीना भर से अधिक हो चुका है, केंद्र सरकार से जारी बातचीत में उन्हें अब तक कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लगी है, पर ...
16
17
उत्तरप्रदेश के फ़तेहपुर ज़िले में कथित तौर पर कुछ दबंगों की पिटाई से क्षुब्ध होकर एक दलित युवक ने आत्महत्या कर ली। युवक का अपराध इतना था कि उसकी बकरियों ने अभियुक्तों के आम के पेड़ की पत्तियां खा ली थीं। पुलिस ने गांव के ही 3 लोगों के ख़िलाफ़ मामला ...
17
18
राहुल गांधी इतने अहम समय में विदेश क्यों चले गए...? ये एक ऐसा सवाल है जिसका जवाब देना कांग्रेस पार्टी के लिए अब थोड़ा मुश्किल होता जा रहा है? क्योंकि ये पहला मौक़ा नहीं है जब राहुल गाँधी ने अपने व्यक्तिगत जीवन को राजनीतिक जीवन से ज़्यादा तवज्जो दी ...
18
19
शुरुआत में उन ट्रॉलियों के अंदर सिर्फ़ बल्ब लगे थे। बाहर अंधेरा था। महिलाएं और पुरुष आग को घेरे खाना बनाने की कोशिश कर रहे थे। किसान आंदोलन को देखने जाते वक़्त ट्रैक्टरों से गुज़रते हुए आपको पानी की छप-छप आवाज़ सुनाई देती थी।
19