पन्ना : रत्न जो करियर चमका देता है, व्यापार के लिए भी बहुत शुभ, जानिए और क्या हैं फायदे

benefits of panna stone
Last Updated: मंगलवार, 24 मई 2022 (16:38 IST)
हमें फॉलो करें
बुध ग्रह का रत्न होता है। बुध ग्रह करियर, और नौकरी को प्रभावित करता है। मिथुन और कन्या राशि का ग्रह स्वामी बुध होता है। हालांकि किसी भी रत्न को पहनने के पूर्व आपको अपनी कुंडली या जन्म पत्रिका की जांच जरूर कर लेना चाहिए फिर ही पहनना चाहिए।


पन्ना धारण करने के 10 लाभ
10 benefits of wearing Panna:
1. पन्ना धारण करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है। इससे बुद्धि तेज होने लगती है।
2. हाजमा अच्‍छा करने के लिए भी इसे धारण करते हैं।
3. नौकरी और व्यापार में उन्नति के लिए भी इसे धारण करने की सलाह दी जाती है।
4. पन्ना धारण करने से वाणी प्रभावशाली हो जाती है।
5. पन्ना धारण करने से अधूरी तमन्नाएं पूरी होने लगती हैं।
6. कुंडली को देखकर यदि किसी रोगी को पन्ना पहनाया जाता है तो उसके बल में वृद्धि होती है आरोग्य का सुख मिलता है।
7. घर में पन्ना रत्न उचित स्थान पर रखने से अन्न-धन्न आदि में वृद्धि होती है, सुयोग्य संतान का सुख मिलता है।
8. मिथुन लग्न वाले यदि पन्ना धारण करे तो पारिवारिक परेशानी कम होती है।
9. कन्या लग्न यदि पन्ना धारण करे तो राज्य, व्यापार, पिता, नौकरी, शासकीय कार्यों में लाभ पा सकते हैं।
10. पन्ना पहनने से यदि बुद्ध उत्तम प्रभाव देने लगता है तो जातक की बहन की‍ जिंदगी में भी परेशानियां कम हो जाती है।
Pukharaj And Panna
Pukharaj And Panna
पन्ना धारण करने के 5 नुकसान

5 disadvantages of wearing emerald Panna ratna:
1. लाल किताब के अनुसार बुध तीसरे या 12वें हो तो पन्ना नहीं पहनना चाहिए इससे नुकसान होगा।
2. ज्योतिष के अनुसार 6, 8, 12 का बुध स्वामी हो तो पन्ना पहनने से अचानक नुकसान हो सकता है। इसलिए पहले किसी ज्योतिष को कुंडली दिखाएं फिर ही पहनें।
3. यदि बुध की महादशा चल रही है और बुध 8वें या 12वें भाव में बैठा है तो भी पन्ना धारण करने से समस्या उत्पन्न हो सकती है।
4. नकली, अशुद्ध, टूटा-फूटा, धब्बेदार, चमकदार, स्वर्ण रंग का या अन्य रंग का पन्ना धारण करने से धन, समृद्धि और संतान पक्ष का नाश हो जाता है।
5. उचित धातु, नक्षत्र, दिन और ग्रहों की स्थिति देखे बगैर पन्ना धारण किया है तो वह भी नुकसानदायक सिद्ध हो सकता है।
अन्य नियम : लाल किताब अनुसार यदि किसी घर में कोई ग्रह सोया हुआ हो तो उस घर को और उस ग्रह के प्रभाव को जाग्रत करने के लिए उस घर का रत्न धारण करें। जैसे यदि तीसरे में बुध नहीं है तो तीसरे के लिए धारण करें। इसे बुध के अच्छे प्रभाव मिलना प्रारंभ होंगे। यदि आपकी कुंडली में बुध मीन राशि का होकर बुरा प्रभाव दे रहा है तो पन्ना पहन सकते हैं। यदि बुध की महादशा या अंतरदशा चल रही हो और बुध 8वें या 12वें भाव में नहीं हो तो पन्ना पहनने से लाभ मिलेगा। यदि बुध, मंगल, शनि, राहु या केतु के साथ स्थित हो या उस पर शत्रु ग्रहों की दृष्टि हो तो पन्ना पहना जा सकता है। इससे नौकरी व्यवसाय में रुकावट दूर होगी।



और भी पढ़ें :