Chaturthi 2021: चतुर्थी के दिन पढ़ें श्री गणेश के 32 नाम, देंगे बुद्धि, धन, यश, सुख और सम्मान का वरदान

Lord Ganesha Names
आज चतुर्थी व्रत (Chaturthi 2021)
है। इस दिन विघ्नहर्ता श्री गणेश का व्रत रखकर उनकी विधि-विधान से पूजा की जाती है। भगवान श्री गणेश ने अलग-अलग अवतार लेकर संसार के सभी संकटों का नाश किया।

खास तौर पर चतुर्थी के दिन श्री गणेश के इन 32 नामों का पढ़ने या जपने से जीवन के सभी संकट दूर होते हैं और मनुष्य को बुद्धि, धन, यश, सुख, समृद्धि और सम्मान की प्राप्ति होती हैं। यहां प्रस्तुत हैं शास्त्रों में वर्णित भगवान और उनके मंगलकारी स्वरूप के बारे में-

श्री गणेश के 32 नाम
Lord Ganesha 32 Names

1. श्री बाल गणपति- छ: भुजाओं और लाल रंग का शरीर।
2. श्री तरुण गणपति- आठ भुजाओं वाला रक्तवर्ण शरीर।
3. श्री भक्त गणपति- चार भुजाओं वाला सफेद रंग का शरीर।
4. श्री वीर गणपति- दस भुजाओं वाला रक्तवर्ण शरीर।
5. श्री शक्ति गणपति- चार भुजाओं वाला सिंदूरी रंग का शरीर।
6. श्री द्विज गणपति- चार भुजाधारी शुभ्रवर्ण शरीर।
7. श्री सिद्धि गणपति- छ: भुजाधारी पिंगल वर्ण शरीर।
8. श्री विघ्न गणपति- दस भुजाधारी सुनहरी शरीर।
9. श्री उच्चिष्ठ गणपति- चार भुजाधारी नीले रंग का शरीर।
10. श्री हेरंब गणपति- आठ भुजाधारी गौर वर्ण शरीर।
11. श्री उद्ध गणपति- छ: भुजाधारी कनक यानि सोने के रंग का शरीर।
12. श्री क्षिप्र गणपति- छ: भुजाधारी रक्तवर्ण शरीर।
13. श्री लक्ष्मी गणपति- आठ भुजाधारी गौर वर्ण शरीर।
14. श्री विजय गणपति- चार भुजाधारी रक्त वर्ण शरीर।
15. श्री महागणपति- आठ भुजाधारी रक्त वर्ण शरीर।
16. श्री नृत्त गणपति- छ: भुजाधारी रक्त वर्ण शरीर।
17. श्री एकाक्षर गणपति- चार भुजाधारी रक्तवर्ण शरीर।
18. श्री हरिद्रा गणपति- छ: भुजाधारी पीले रंग का शरीर।
19. श्री त्र्यैक्ष गणपति- सुनहरे शरीर, तीन नेत्रों वाले चार भुजाधारी।
20. श्री वर गणपति- छ: भुजाधारी रक्तवर्ण शरीर।
21. श्री ढुण्डि गणपति- चार भुजाधारी रक्तवर्णी शरीर।
22. श्री क्षिप्र प्रसाद गणपति- छ: भुजाधारी रक्ववर्णी, त्रिनेत्र धारी।
23. श्री ऋण मोचन गणपति- चार भुजाधारी लालवस्त्र धारी।
24. श्री एकदंत गणपति- छ: भुजाधारी श्याम वर्ण शरीर धारी।
25. श्री सृष्टि गणपति- चार भुजाधारी, मूषक पर सवार रक्तवर्णी शरीर धारी।
26. श्री द्विमुख गणपति- पीले वर्ण के चार भुजाधारी और दो मुख वाले।
27. श्री उद्दण्ड गणपति- बारह भुजाधारी रक्तवर्णी शरीर वाले, हाथ में कुमुदनी और अमृत का पात्र होता है।
28. श्री दुर्गा गणपति- आठ भुजाधारी रक्तवर्णी और लाल वस्त्र पहने हुए।
29. श्री त्रिमुख गणपति- तीन मुख वाले, छ: भुजाधारी, रक्तवर्ण शरीर धारी।
30. श्री योग गणपति- योगमुद्रा में विराजित, नीले वस्त्र पहने, चार भुजाधारी।
31. श्री सिंह गणपति- श्वेत वर्णी आठ भुजाधारी, सिंह के मुख और हाथी की सूंड वाले।



और भी पढ़ें :