जांच में सहयोग को तैयार हैं एएफआई

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 6 जुलाई 2011 (19:03 IST)
हमें फॉलो करें
के बाद आलोचना का शिकार ने कहा कि वह मामले की के लिए खेल मंत्रालय द्वारा गठित जांच पेनल के साथ सहयोग को तैयार है।


एएफआई निदेशक एमएल डोगरा ने कहा हम खेल मंत्रालय के पेनल से पूरा सहयोग करेंगे ताकि मामले की तह तक जा सकें। हम मंत्री के छह बिंदुओं वाले फैसले से पूरी तरह सहमत है।

डोगरा ने कहा कि एएफआई को अभी मामले पर रिपोर्ट देने संबंधी खेल मंत्रालय से कोई सूचना नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि सूचना मिलने पर महासंघ उस पर अमल करेगा।

उन्होंने कहा मैंने कल सुना कि खेलमंत्री ने प्रेस कांफ्रेंस में ऐसा कहा था लेकिन हमें अभी तक औपचारिक सूचना नहीं मिली है। सूचना मिलने पर हम उस पर अमल करेंगे और रिपोर्ट भेजेंगे। उन्होंने कहा हमने भी मामले की आंतरिक जांच शुरू कर दी है। तीन सदस्यीय समिति प्रारंभिक रिपोर्ट एक महीने के भीतर और अंतिम रिपोर्ट तीन महीने में देगी।

डोपिंग प्रकरण के लिए एएफआई सचिव ललित भनोत और आजीवन अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी को भी दोषी बताने वाले खेलमंत्री अजय माकन के बयान पर डोगरा ने कहा मैं उस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। डोगरा ने यह भी कहा कि बर्खास्त विदेशी कोच यूरी ओग्रोदनिक ना तो देश से बाहर जा रहे हैं और ना ही छिपे हुए हैं जैसा कि मीडिया रिपोर्टो में कहा गया है।
उन्होंने कहा वह निकट भविष्य में देश से बाहर नहीं जा रहे हैं। वह निश्चित तौर पर अभी भी एनआईएस पटियाला में है। वह छिपे हुए नहीं है। उन्हें पद से बर्खास्त कर दिया गया है पर वह जांच समिति के सामने अपना पक्ष रखेंगे। इस बीच सिनि जोस, जौना मुमरु और टियाना मेरी थॉमस ने आज राष्ट्रीय डोप टेस्ट लेबोरेटरी में अपने बी नमूने जांच के लिए दिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :