मिस्र ने जीता विश्वकप, भारत ने जीता दिल

चेन्नई| वार्ता|
और रमित टंडन के जुझारू खेल के बावजूद मेजबान को यहां विश्वकप अंडर-21 स्क्वॉश चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में टॉप सीड से 12 से पराजय का सामना करना पड़ा।

चौथी सीड भारत ने मिस्र को खिताबी मुकाबले में आखिरी अंक तक कड़ा संघर्ष कराया लेकिन अंततः रमित टंडन की निर्णायक एकल में हार के साथ भारतीय उम्मीदें टूट गई। दर्शकों ने जोरदार तालियां बजाते हुए भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन की सराहना की।

खिताबी मुकाबले के पहले एकल में रवि दीक्षित को मिस्र के मार्वन अल शोरबागी ने 11-4, 11-7, 7-11, 11-7 से हार का सामना करना पड़ा लेकिन विश्व की 15वें नंबर की खिलाड़ी दीपिका पल्लीकल ने लाजवाब प्रदर्शन नूर अल शेरबिनी को 11-7, 4-11, 8-11, 14-12, 11-5 से हराकर भारत को 1-1 की बराबरी पर ला खड़ा किया।
निर्णायक एकल में रमित टंडन हालांकि पहले दो गेम करीम अब्देल गवाद से 10-12, 4-11 से हार गए लेकिन तीसरा गेम उन्होंने 11-6 से जीत लिया। चौथे गेम में रमित ने 7-4 की बढ़त बना ली थी मगर गवाद ने वापसी करते हुए 11-8 से यह गेम जीतकर मिस्र को पहली बार आयोजित यह विश्वकप दिला दिया।

इससे पहले शनिवार को भारत ने सेमीफाइनल में फ्रांस को 2-1 से हराया जबकि मिस्र ने इंग्लैंड को 2-1 से पराजित किया था। इंग्लैंड ने फ्रांस को 2-0 से हराकर तीसरा स्थान हासिल किया। (वार्ता)


और भी पढ़ें :