30 मिनट की लिवाली से शेयर बाजार संभाला

मुंबई| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 29 मार्च 2012 (18:01 IST)
FILE
आखिरी 30 मिनट में चले लिवाली से दौर से आज बंबई भारी नुकसान से बच सका और बंबई शेयर बाजार के मूख्य सूचकांक की गिरावट 63 अंक तक सीमित रही।


वैश्विक स्तर पर कमजोर रुख और डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान की वजह से आज बाजार में बिकवाली का दबाव बना हुआ था।

बाजार दिन में एक समय 17000 से नीचे चला गया था। आखिरी दौर में लिवाली के समर्थन से स्थिति कुछ संभल गई और सेंसेक्स 17,058.61 अंक पर बंद हुआ। यह पिछले बंद की तुलना में 63.01 अंक या 0.37 प्रतिशत नीचे है।

इसी तरह नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी 15.90 अंक या 0.31 फीसदी की गिरावट के साथ 5,178.85 अंक पर आ गया। एक समय यह 5,135.95 अंक के निचले स्तर पर चला गया था।


रुपए में गिरावट के अलावा आयात की लागत बढ़ने से महंगाई वृद्धि की आशंका से भी बाजार की धारणा प्रभावित हुई। इसके अलावा बाजार में इस बात को लेकर भी चिंता थी कि भारतीय रिजर्व बैंक अगले माह मौद्रिक नीति की समीक्षा में ब्याज दरों में कटौती नहीं करेगा।
आईटी क्षेत्र की अगुवाई में बाजार नीचे आया। आईटी निर्यातकों को आशंका है कि विदेशी बाजारों में कमजोर रुख से उनका कारोबार प्रभावित हो सकता है। करीब 80 फीसद साफ्टवेयर कारोबार अमेरिका और यूरोपीय बाजारों से मिलता है।

सेंसेक्स में दूसरा सबसे अधिक भारांश रखने वाला इंफोसिस का शेयर 1.78 प्रतिशत के नुकसान से 2,791 रुपये पर आ गया। इसी तरह टीसीएस 1.71 प्रतिशत की गिरावट के बाद 1,143.25 रुपये का रह गया। (भाषा)



और भी पढ़ें :