शनि देव के प्राचीन एवं चमत्कारिक सिद्धपीठ

शनि के दंड से बचा सकते हैं यह तीन सिद्धपीठ

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
 
FILE
भारत में भगवान शनि के नए-नए और अनेक मंदिर बन गए हैं, लेकिन क्या उक्त मंदिरों में मत्था टेकने का कोई महत्व है या नहीं? सांईनाथ के भी अब अनेक मंदिर बनने लगे हैं, लेकिन सांई तो सिर्फ शिर्डी में ही विराजमान है।> > वैसे जो भारतभर में के कई पीठ है किंतु तीन ही प्राचीन और चमत्कारिक पीठ है, जिनका बहुत महत्व है। उक्त तीन पीठ पर जाकर ही पापों की क्षमा मांगी जा सकती है। जनश्रुति है कि उक्त स्थान पर जाकर ही लोग शनि के दंड से बच सकते हैं, किसी अन्य स्थान पर नहीं।
जीवन में किसी भी तरह की कठिनाई हो या शनि ग्रह का प्रकोप है, लेकिन यहां जाकर लोग भय‍मुक्त हो जाते हैं। मान्यता के अनुसार जातक को तत्काल लाभ मिलता है। कहते हैं कि पिछले कई हजारों वर्षों से यह पीठ आज भी ज्यों के त्यों है और आज भी यहां चमत्कार घटित होते रहते हैं।

आइए हम जानते हैं कि वे तीन पीठ कहां पर स्थित है :-




और भी पढ़ें :