मप्र को गुजरात नहीं बनने देंगे-दिग्गी

इन्दौर (वेबदुनिया)| भाषा|
हमें फॉलो करें
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजयसिंह ने सोमवाकहा कि भाजपा दंगों और लाशों की राजनीति करती है। कांग्रेस मध्यप्रदेश को गुजरात नहीं बनने देगी।


शहर में हाल ही हुई सांप्रदायिक हिंसा के पीड़ितों से मिलने के बाद दिग्विजय ने इंदौर प्रेस क्लब में कहा कि जो मारे गए हैं वे पुलिस की गोली से नहीं मरे हैं, बल्कि निजी हथियारों से उनकी मौत हुई है। ऐसे में उन लोगों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए, जिनकी गोली से लोगों की मौत हुई है।

पूर्व मुख्‍यमंत्री ने राज्य के लोक निर्माण ‍मंत्री कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना साधते हुए कहा कि जब से वे इन्दौर के महापौर बने हैं, शहर के हालात खराब हुए हैं। जमीनों पर दादागिरी से कब्जे किए जा रहे हैं।

एक सवाल के जवाब में दिग्विजयसिंह ने कहा कि सोनिया गाँधी की महानता ही है कि जो उन्हें गाली देता है, उसे भी स्वीकार कर लेती हैं। श्रीमती गाँधी का व्यक्तित्व बहुत बड़ा है। उनसे मुलायमसिंह यादव की पार्टी सपा से कांग्रेस के गठजोड़ के संबंध में सवाल पूछा गया था। देश में बढ़ती महँगाई को उन्होंने विश्वव्यापी समस्या बताया। हालाँकि उन्होंने कहा कि देश में खाद्‍यान्न की कोई कमी नहीं है।

इस मौके पर दिग्विजय के साथ केन्द्रीय मंत्रीद्वय नारायण सामी, कांतिलाल भूरिया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी, वरिष्ठ नेता अजयसिंह राहुल भी मौजूद थे। सभी नेताओं ने मूयर अस्पताल जाकर घायलों से भी मुलाकात की।

इससे पूर्व देवास में भाजपा पर सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप लगाते हुए दिग्विजय ने कहा था कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान छोटा नरेन्द्र मोदी बनना चाह रहे हैं, लेकिन कांगेस उनके मंसूबो को सफल नहीं होने देगी।
इंदौर में दंगा प्रभावित क्षेत्रों में प्रभावितों से मिलने को लेकर देवास सर्किट हाउस में गिरफ्तारी के बाद आज सुबह रिहा हुए सिंह ने कहा कि भाजपा की राजनीति सांप्रदायिकता से जुड़ी है और वह जब तक हिन्दू-मुसलमानों में दंगा नहीं कराए तब तक उसकी राजनीति चल नहीं सकती है।

सिंह ने इंदौर में हुए दंगों के लिए बजरंग दल एवं कट्टर हिन्दूवादी संगठनों को जिम्मेदार ठहराते हुए दंगों की न्यायिक जाँच करवाने की माँग की। सिंह के साथ प्रदेश कांगेस अध्यक्ष सुरेश पचौरी ने भी दंगों के लिए सरकार को आड़े हाथों लेते हुए इस स्थिति के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया।
कर्फ्यू में छूट : इन्दौर में हालात लगातार सामान्य हो रहे हैं। इसी के मद्‍देनजर प्रशासन ने मंगलवार को सुबह 6 से रात 10 बजे तक पूरे शहर में कर्फ्यू में ढील देने का ऐलान किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार कल शासकीय कार्यालय और स्कूल-कॉलेज भी खुले रहेंगे



और भी पढ़ें :