भारत भी कर रहा है रक्षा क्षमताओं का विकास

नई दिल्ली (भाषा) | भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 1 अक्टूबर 2009 (22:36 IST)
रक्षामंत्री एके एंटनी ने गुरुवार को कहा कि की तरह भी अपनी रक्षा क्षमताओं का कर रहा है।

एंटनी ने रक्षा मंत्रालय के एक समारोह के मौके पर कहा कि चीन की तरह हम भी अपनी क्षमताओं को बढ़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार पिछले कुछ वर्षों से तीनों सेनाओं के मूलभूत ढाँचे को मजबूती और क्षमताओं को बढ़ावा दे रही है। उन्होंने कहा कि इससे पहले हम ऐसा नहीं कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि ‘कभी-कभार की समस्याओं’ के बावजूद भारत-चीन सीमा पर स्थिति शांतिपूर्ण है और भारत चीन से बातचीत करके सभी सम्बन्धित मसलों का हल निकालने का इच्छुक है।
वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के औचक हमलों की बढ़ती वारदात के बारे में पूछे जाने पर रक्षामंत्री ने कहा‘हमें यह समझने की कोशिश करनी चाहिये कि कभी-कभार होने वाली समस्याओं के बावजूद व्यापक रूप से भारत-चीन सीमा पर शांति है।'

एंटनी ने कहा कि चीन से सम्बन्धित मसलों का बातचीत के जरिये हल निकालना भारत की नीति है। साथ ही हम अपनी प्रभावी प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ा रहे हैं।



और भी पढ़ें :