कलेक्टर की रिहाई में रोड़ा

माओवादियों ने रखी नई माँग

भुवनेश्वर| भाषा|
माओवादियों ने मलकानगिरि के जिलाधीश आरवी कृष्णा की रिहाई के लिए पाँच मुख्य नक्सलियों को तत्काल रिहा करने की बुधवार को नई माँग करके इस मामले को और पेचीदा बना दिया।

नक्सलियों की ओर से नई माँग सामने आने के बाद मध्यस्थों ने अपील की कि माओवादी जिलाधीश को गुरुवार तक रिहा कर दें। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि नक्सली नेता गंती प्रसादम को आज उड़ीसा उच्च न्यायालय ने जमानत दे दी। इस बीच नक्सलियों ने शीर्ष नक्सली नेता की पत्नी पद्मा, श्रीरामुलू, श्रीनिवासुलू सहित पाँच नक्सलियों को जेल से रिहा करने की माँग की।
सूत्रों ने कहा कि नक्सलियों ने रिहा किए गए जूनियर इंजीनियर पवित्र माँझी के जरिए मलकानगिरि के जिला प्रशासन के लिए भेजे गए पत्र में अपनी नई माँगें रखी हैं। माँझी का जिलाधीश के साथ गत 16 फरवरी को चित्रकोंडा से अपहरण कर लिया था।

सूत्रों ने कहा कि ऐसा लगता है कि अपहरणकर्ता अदलाबदली का मामला बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि माओवादियों ने साथ ही यह भी कहा कि वे जिलाधीश को उन तीन मध्यस्थों की मौजूदगी में सार्वजनिक रूप से रिहा करेंगे, जिन्होंने उनके तथा उड़ीसा सरकार जिला ग्रामीण विकास एजेंसी के परियोजना निदेश के बीच मध्यस्थता की थी।
चित्रकोंडा के तहसीलदार डी. गोपालकृष्ण ने फोन पर बताया कि मलकानगिरि के सुदूर जंगल इलाके में माओवादियों द्वारा रिहा किए जाने के बाद माँझी को स्थानीय ग्रामीण मोटरसाइकिल से चित्रकोंडा ले गए। वे ठीक हैं। डॉक्टरी जाँच में उनकी तबीयत ठीक पाई गई।

माँझी ने कहा कि माओवादियों ने उन्हें रिहा करते वक्त 48 घंटे के भीतर कृष्णा को भी रिहा कर देने का भरोसा दिलाया था। कृष्णा के ठिकाने के बारे में कुछ अता-पता नहीं है। यहाँ से 650 किलोमीटर दूर मलकानगिरि में बातचीत में माँझी ने कहा कि माओवादियों ने उन्हें ठीक तरीके से रखा। करीब एक हफ्ते तक बंधक रखने के बावजूद किसी तरह की यातना नहीं दी गई। कृष्णा और उन्हें भात और दाल सहित अच्छा खाना दिया जा रहा था।
माँझी ने कहा कि जिलाधिकारी ठीक हैं और अच्छी स्थिति में है। उनकी सेहत के बारे में चिंता करने जैसी कोई बात नहीं है। हम साथ ही थे। मैं भी ठीक हूँ। यह पूछे जाने पर कि जिलाधिकारी को भी उनके साथ ही क्यों नहीं छोड़ा गया, इस पर मांझी ने कहा कि मैं नहीं कह सकता। यह पूरी तरह उन नक्सलियों पर निर्भर था। (भाषा)



और भी पढ़ें :