हसन ने धारदार गेंदबाजी से छाप छोड़ी

ब्रिजटाउन| वार्ता|
हमें फॉलो करें
WD
ट्‍वेंटी-20 विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट में पहली भाग भाग ले रही की टीम भले की प्रतियोगिता से बाहर हो गई लेकिन इसके ने धारदार गेंदबाजी से जरूर अपनी छाप छोड़ी है।


हसन ने विश्वकप के दो मैचों में चार विकेट झटककर टूर्नामेंट के पहले दौर के शीर्ष पाँच गेंदबाजों में जगह बनाई।

इसके अलावा उन्होंने अब तक आठ मैचों में 12.14 के औसत से 14 विकेट चटकाकर टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी टीम की ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। उन्होंने अपने ट्‍वेंटी-20 करियर की भी सबसे बढ़िया गेंदबाजी करते हुए 21 रन देकर तीन विकेट हासिल किए।

अफगानिस्तान को दनादन क्रिकेट का ज्यादा अनुभव नहीं है। उसने अब तक आठ ट्‍वेंटी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं, जिनमें से चार में उसकी जीत हुई है जबकि चार में उसे हार का सामना करना पड़ा है। क्रिकेट के इस फार्मेट में अफगानिस्तान का अब तक का सबसे कम स्कोर 80 रन है।


इस मामले में केवल दो ही देश अफगानिस्तान से आगे हैं। ट्‍वेंटी-20 में सबसे कम रन बनाने का रिकॉर्ड आयरलैंड के नाम है, जिसने इस विश्व कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ केवल 66 रन बनाए।
इसके बाद केन्या का नंबर है। न्यूजीलैंड के खिलाफ 12 सितंबर 2007 को डरबन में खेल गए मैच में उसकी पारी केवल 73 रन रन पर सिमट गई थी। (वार्ता)



और भी पढ़ें :