कन्हाई-बेडसर हाल ऑफ फेम में

लंदन (वार्ता) | वार्ता| पुनः संशोधित शुक्रवार, 8 मई 2009 (22:08 IST)
हमें फॉलो करें
के महान बल्लेबाज और ईंग्लैंड के पूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के में शामिल हो गए हैं।


आईसीसी अध्यक्ष डेविड मार्गन ने इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच चल रहे लॉर्ड्स टेस्ट के दूसरे दिन इन दोनों खिलाड़ियों को हाल ऑफ फेम कैप प्रदान कर सम्मानित किया। समारोह में इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष गाइल्स क्लार्क और वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष जूलियन हंटे भी मौजूद थे।

कन्हाई ने वर्ष 1957 से 1974 के दौरान इंडीज टीम से खेलते हुए 79 टेस्ट मैचों में 47.53 के औसत से 6227 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 15 शतक और 28 अर्द्धशतक भी लगाए।

वहीं बेडसर ने वर्ष 1939 से 1945 तक 51 टेस्ट मैचों में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व किया था। इस दौरान वह धारदार इंग्लिश गेंदबाजी आक्रमण का पर्याय बने रहे। वह हाल ऑफ फेम के सबसे बुजुर्ग सदस्य (90 साल) हो गए हैं।


इस समय से प्रसन्न बेडसर ने कहा आईसीसी के इस विश्व स्तरीय सम्मान समारोह में शामिल होना बड़े गर्व की बात है। हाल ऑफ फेम में शामिल किए गए पहले 55 खिलाड़ियों के बीच रोहन के साथ मौजूद होना बहुत ही आनंददायी है।
इसी तरह कन्हाई ने भी कहा कि आईसीसी के जन्मशती वर्ष में हाल ऑफ फेम में शामिल होकर वह सम्मानित महसूस कर रहे हैं।

गौरतलब है कि आईसीसी हर साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी महासंघ (फीका) के सहयोग से कुछ महान खिलाड़ियों का चयन कर उन्हें हाल ऑफ फेम में शामिल करती है।



और भी पढ़ें :