बांग्लादेश के तुरूप के इक्के हैं तमीम

ढाका| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 28 फ़रवरी 2011 (23:26 IST)
हमें फॉलो करें
के सलामी बल्लेबाजों के बारे में सोचते ही सचिन तेंडुलकर, वीरेंद्र सहवाग, केविन पीटरसन, एंड्रयू स्ट्रास, और जैसे धुरंधर बल्लेबाजों के नाम जेहन में आते हैं।


इस सूची में के सलामी बल्लेबाज को भी रखा जा सकता है, जिन्होंने अपने विस्पोटक अंदाज से प्रशंसकों का दिल जीता है।
बांग्लादेश को अगर ग्रुप चरण के बाद क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय करना है तो बाएँ हाथ के बल्लेबाज तमीम की भूमिका अहम रहने वाली है। मार्च में 22 साल के हुए तमीम ने विश्व कप के अब तक के दो मैचों में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन भी किया है। उन्होंने भारत के खिलाफ 70 और आयरलैंड के खिलाफ 43 गेंदों में 44 रन की पारी खेली।

आयरलैंड के खिलाफ मैच में तमीम ने मिड विकेट पर नीयल ओब्रायन का शानदार कैच पकड़कर मैच में निर्णायक मोड़ ला दिया था, जिसके बाद उन्हें आश्चर्यजनक रूप से 'मैन ऑफ द मैच' का पुरस्कार दिया गया।


उन्होंने कहा मुझे लगता है कि मुझे उस कैच की वजह से यह यह ट्रॉफी मिली, वरना तेज गेंदबाज शफीउल इस्लाम (21 रन देकर चार विकेट) इसके हकदार थे। (भाषा)



और भी पढ़ें :