गुरुवार, 2 फ़रवरी 2023
  1. खेल-संसार
  2. »
  3. क्रिकेट
  4. »
  5. समाचार
Written By भाषा

ऑस्ट्रेलिया के सामने मजबूत श्रीलंका

रिकी पोटिंग की ऑस्ट्रेलियाई टीम को विश्वकप ट्वेंटी-20 चैंपियनशिप के शुरू में बाहर होने से बचने के लिए सोमवार को यहाँ श्रीलंका की मजबूत टीम के खिलाफ होने वाले मैच में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी।

ऑस्ट्रेलिया को पहले मैच में क्रिस गेल के आक्रामक 88 रन के कारण सात विकेट की करारी हार झेलनी पड़ी थी और एक और पराजय का मतलब होगा कि एकदिवसीय मैचों में पिछली तीन बार की विश्व चैंपियन टीम को पहले दौर में ही बाहर होना पड़ेगा।

श्रीलंका पर जीत दर्ज करने पर भी पोंटिंग की टीम का सुपर आठ में स्थान पक्का नहीं होगा क्योंकि यदि कुमार संगकारा की अगुवाई वाली टीम बुधवार को वेस्टइंडीज को हरा देती है तो फिर नेट रन रेट के आधार पर अगले चरण में पहुँचने वाली टीमों का निर्धारण होगा।

पोंटिंग ने ट्रेंटब्रिज में होने वाले ग्रुप सी मैच से पहले कहा कि हम जानते हैं कि हमें क्या करना है और यदि हम अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो आगे बढ़ने में सफल रहेंगे।

वेस्टइंडीज के खिलाफ पराजय ऑस्ट्रेलिया की इस छोटे प्रारूप में लगातार चौथी हार है। टेस्ट और एकदिवसीय के बादशाह को यह छोटा प्रारूप अधिक रास नहीं आया तथा 22 मैच में 11 हार इसका जीवंत उदाहरण है।

ऑस्ट्रेलिया को दक्षिण अफ्रीका में 2007 में खेले गए पहले विश्व ट्वेंटी-20 में भी जिम्बाब्वे के हाथों हार झेलनी पड़ी थी लेकिन वह तब भी सेमीफाइनल में पहुँचने में कामयाब रहा था, जहाँ उसे विजेता भारत से शिकस्त मिली थी।

पोंटिंग ने कहा कि क्रिकेट के इस प्रारूप में किसी भी समय पाँसा पलट सकता है। हम फिर से वैसी स्थिति में हैं जैसे पिछली बार थे। हमारे कुछ खिलाड़ियों का यह अंतिम ट्वेंटी-20 विश्व कप होगा और वे जानते हैं कि उन्हें क्या करना है।

श्रीलंका मार्च में लाहौर में आतंकी हमले के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगा और उसके खिलाड़ी मानसिक रूप से भी इस मैच के लिए पूरी तरह तैयार हैं। पाकिस्तानी दौरे के बाद महेला जयवर्धने के कप्तानी छोड़ने के कारण टीम की अगुआई कर रहे कुमार संगकारा ने कहा कि टीम ऑस्ट्रेलिया का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार है।

संगकारा ने कहा कि दबाव उन पर रहेगा लेकिन हम जीत तय मानकर नहीं चल रहे हैं। वे हमें कड़ी चुनौती देंगे और हमें उसका सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। हम जानते हैं कि किसी भी टीम को दौड़ में बने रहने के लिए एक मैच जरूर जीतना होगा। हमें मौकों का फायदा उठाना पड़ेगा।

संगकारा ने सेमीफाइनल को पहला लक्ष्य बना रखा है। उन्होंने कहा कि हमारी टीम में बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में अच्छा मिश्रण है लेकिन आखिर में महत्वपूर्ण यही होता है कि आप अपनी रणनीति को कैसे अंजाम तक पहुँचाते हो। ट्वेंटी-20 सिर्फ फटाफट का ही खेल नहीं है इसमें अच्छे स्कोर के लिए आपको रणनीति के हिसाब से चलना पड़ता है।