जीडीपी में सुधार हेतु ब्याज दरों में कटौती आवश्यक

नई दिल्ली| भाषा|
FILE
नई दिल्ली। बैंक ऑफ अमेरिका की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सबसे बुरा दौर खत्म हो चुका है, लेकिन में सुधार की गति बेहतर मानूसन व ऋण की ब्याज दरों में कटौती पर निर्भर करेगी।


वैश्विक ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक, आर्थिक वृद्धि सबसे निचले स्तर से बाहर तब तक नहीं निकलेगी जब तक कि ब्याज दरों में कटौती नहीं की जाती।


रिपोर्ट के मुताबिक कि वैश्विक चक्र की इस स्थिति में मांग में तेजी लाने का एकमात्र विकल्प ब्याज दरों में कटौती करना है। बैंकों को ऋण की ब्याज दरों में आधा से पौना प्रतिशत की और कटौती करनी चाहिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :