ब्रिटेन ने भारत से ऑउटसोर्सिंग शुरू की

लंदन| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 2 जून 2011 (16:58 IST)
कंजर्वेटिव पार्टी की अगुवाई वाली (बीसीसी) में नौकरियों में कटौती करने और स्थित कंपनियों से ठेके पर काम कराने वाली पहली परिषद बन गई है। बीसीसी की इस पहल का कर्मचारी यूनियनें भारी विरोध कर रही हैं।


बीसीसी के इस कदम पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यूनाइट यूनियन के राष्ट्रीय अधिकारी पीटर एलेनसन ने कहा कि यह एक चौंकाने वाला निर्णय है और यूनाइट बीसीसी को मूल्यवान नौकरियों का निर्यात करने से रोकने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाएगी।

उन्होंने कहा कि हमें आशंका है कि यह महज शुरुआत है और आगे चलकर अन्य परिषदें इसका अनुकरण करेंगी। सार्वजनिक क्षेत्र की हजारों नौकरियां बाहर जा सकती हैं। एक बार ये चली गईं तो वापस नहीं आएंगी।

रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसी 100 पदों को साल के अंत तक भारत स्थानांतरित करेगी। (भाषा)



और भी पढ़ें :