Fact Check: ताजमहल समेत 100 ऐतिहासिक स्थलों को लीज पर दे रही मोदी सरकार? जानिए पूरा सच

Last Updated: सोमवार, 5 अप्रैल 2021 (12:47 IST)
सोशल मीडिया पर एक ग्राफिक जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया गया है कि केंद्र सरकार समेत 100 ऐतिहासिक इमारतों को पर दे रही है। इस ग्राफिक को शेयर करते हुए कांग्रेस पार्टी ने पर हमला बोला है। इस खबर के वायरल होने के बाद सरकार ने इस संबंध में स्पष्टीकरण जारी किया है।

क्या है वायरल-


कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से इस ग्राफिक को शेयर करते हुए लिखा गया है, “मैं देश नहीं बिकने दूंगा का नारा लगाने वाले लोग आज देश का सब कुछ बेचने और लीज पर देने को आमादा हैं। यह बड़े शर्म की बात है।”



इस ग्राफिक में लिखा है कि 25 हजार करोड़ कमाने के लिए मोदी सरकार ताजमहल समेत 100 ऐतिहासिक भवनों को लीज पर देगी।


क्या है सच-


केन्द्र सरकार की पॉलिसी/स्कीम्स/विभाग/मंत्रालयों को लेकर गलत सूचना को फैलने से रोकने के लिए काम करने वाले PIB (PIB Fact Check) ने ट्वीट कर इस फेक खबर के बारे में लोगों को जागरुक किया है।



ट्वीट में लिखा गया है, “एक सोशल मीडिया पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि सरकार द्वारा ताजमहल सहित 100 विरासत स्थलों को लीज़ पर दिया जाएगा। PIBFactCheck: यह दावा फ़र्ज़ी है। संस्कृति मंत्रालय द्वारा विरासत स्थलों को लीज़ पर देने का ऐसा कोई भी फैसला नहीं लिया गया है।”



और भी पढ़ें :